दाऊद के थे मुंबई के 2 लाख करोड़, अब परिवार भी 'लापता'

नई दिल्ली (5 दिसंबर): सरकार की आईडीएस योजना के तहत 2 लाख करोड़ रुपये का काला धन अपने पास होने की घोषणा करने वाला मुंबई का परिवार इस समय लापता है। इसी बीच एक बड़ी खबर यह भी सामने आई है कि पाकिस्तान में खुदकुशी करने वाले जावेद खनानी का इस परिवार से कोई लिंक हो सकता है और यह पैसा भी दाऊद का था।

सूत्रों ने बताया कि खनानी आतंकी दाऊद इब्राहिम के लिए काम करता था और उसके काले धन को हवाला के जरिए इधर-उधर लगाता था। खनानी ने अपने नेटवर्क का इस्तेमाल करके 2 लाख करोड़ रुपयों को आईडीएस स्कीम के तहत सफेद करने की यह चाल चली थी। इसीलिए इस परिवार के द्वारा यह घोषणा कराई गई। हालांकि अभी तक मुंबई का यह परिवार लापता है और खलाली ने भी खुदकुशी कर ली है। ऐसे में यह भी बताया जा रहा है कि खलाली को मार दिया गया है।

दरअसल, रविवार को वित्‍त मंत्रालय ने जो खुलासा किया था, उसके मुताबिक, सैयद परिवार में चार लोग हैं। अब्‍दुल रज्‍जाक मोहम्‍मद सैयद, उनके बेटे आरिफ, पत्‍नी रुखसाना और बहन नूरजहां। मंत्रालय ने जो पता बताया था, वह फ्लैट नंबर 4, ग्राउंड फ्लोर, जुबली कोर्ट, 269-B, TPS-III, लिंकिंग रोड, बांद्रा (पश्चिम) था। सूत्रों ने बताया कि फॉर्म में अब्‍दुल का पैन कार्ड जमा किया गया था और पिछले तीन साल के उसके इनकम टैक्‍स रिटर्न्‍स की भी जांच की गई है।