तीसरे वनडे से पहले ही वॉर्नर ने टीम इंडिया के खिलाफ मानी हार!

 

नई दिल्ली(23 सितंबर): ऑस्ट्रेलिया के उपकप्तान और सलामी बल्लेबाज डेविड वॉर्नर ने माना कि मैदान कोई भी हो भारत को उसकी धरती पर हराना आसान नहीं होता है। टीम इंडिया और ऑस्ट्रेलिया की टीमें रविवार को सीरीज के तीसरे वनडे मैच में इंदौर के होलकर स्टेडियम में भिड़ेंगी।

- बता दें कि ऑस्ट्रेलियाई टीम पहली बार इंदौर के मैदान पर खेलेगी।

- डेविड वॉर्नर ने रविवार को होने वाले तीसरे वनडे से पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि हम पहले इंदौर में नहीं खेले हैं। भारत को उसकी सरजमीं पर हराना मुश्किल होता है। विकेट अच्छा है और बाउंड्री छोटी है। हम बल्लेबाजी करें या गेंदबाजी अच्छा प्रदर्शन करना होगा। भारत में बल्लेबाजी के अनुकूल विकेट होते हैं और इसलिए अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाने का कोई बहाना नहीं है।

- वॉर्नर ने कहा कि अगर उनके टॉप आर्डर के बल्लेबाज टीम को अच्छी शुरूआत देते हैं, तो फिर उन्हें टीम इंडिया के दोनों कलाई के स्पिनरों पर दबाव बनाने में कोई दिक्कत नहीं होगी।

- वॉर्नर ने कहा, 'मुझे लगता है कि हमारे खिलाड़ी कुलदीप और चहल को समझ सकते हैं। हमें उनके खिलाफ रणनीति बनाने की जरूरत है। जब आप लगातार विकेट गंवाते हो तो फिर आप दबाव में आ जाते हो। अगर आपको अच्छी शुरूआत मिलती है और फिर जब स्पिनर आक्रमण पर आएंगे तो नतीजा कुछ और होगा।

- वॉर्नर ने माना कि ऑस्ट्रेलिया की तेज और उछाल वाली पिचों के बाद सब-कॉन्टिनेंट की धीमी पिचों पर खेलना आसान नहीं होता है। लेकिन यह बहाना नहीं है, क्योंकि वॉर्नर समेत कप्तान स्टीवन स्मिथ, ग्लेन मैक्सवेल और कई अन्य ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी आईपीएल में भारत में खेलते रहे हैं।

- वॉर्नर ने कहा, अगर हम तकनीक की बात करें तो फिर जब आप तेज और उछाल वाले विकेट पर खेलकर बड़े हुए हों और ऐसे में जब पहली बार सब-कॉन्टिनेंट के दौरे पर आते हो तो यह मुश्किल होता है। लेकिन अगर आप पहले भी यहां खेल चुके हों तो यह कोई बहाना नहीं है।

- वार्नर ने कहा, 'आपको हालात से वाकिफ होना चाहिए। हमें खेल की परिस्थिति के अनुसार खेलना चाहिए कि अगर शुरू में आप दो विकेट गंवा देते हो तो कैसे खेलना है। सीनियर खिलाड़ी जो पहले भी यहां आते रहे हैं, उन्हें पता होना चाहिए कि ऐसी परिस्थितियों में कैसे बाउंड्री लगानी है और कैसे स्ट्राइक रोटेट करनी है।