डेविड हेडली का बड़ा खुलासा: सुसाइड बॉम्बर थी इशरत जहां

मुंबई (11 फरवरी): पाकिस्तानी अमेरिकी आतंकवादी डेविड कोलमैन हेडली की गवाही गुरुवार को शुरू हो गई। हेडली ने अपनी गवाही में इशरत जहां पर बड़ा खुलासा किया है। हेडली ने बताया कि इशरत जहां सुसाइड बॉम्बर थी। ऑपरेशन से पहले शूटआउट में मारी गई। हेडली 26/11 आतंकवादी हमले के मामले में मुंबई की एक अदालत में हेडली की गवाही चल रही है।

और क्या बताया हेडली ने

> मुजंबिल हमारे ग्रुप का लीडर था। > लखवी ने मुजंबिल को इशरत जहां के बारे में बताया था। > इशरत जहां का गुजरात में एनकाउंटर हुआ था।

इशरत जहां लशकर की आत्मघाती हमलावर थी। > हेडली ने बताया कि हमलों को अंजाम देने के लिए मुंबई के ताड़देव इलाके में एक ऑफिस खोला था।  > मेजर इकबाल, साजिद मीर से लेकर अब्दुर रहमान पाशा तक ने उसे फंडिंग की थी।

> हेडली ने बताया कि 26/11 मुंबई अटैक में लश्कर के अलावा ISI भी शामिल था। > हेडली ने ये भी खुलासा किया आईएसआई ही लश्कर को फंडिंग करता था।

इससे पहले क्या बताया हेडली ने > पाकिस्तान और अमेरिका में बैठे आतंकियों की पूरी बातचीत पर आईएसआई की निगरानी रहती थी। > असली प्लान धमाके और हमले का था। फिदायीन हमले का नहीं। > आतंकियों को किसी घर में सुरक्षित पनाह मिलने और बाद में बस या ट्रेन से फरार होने का इरादा था। > लश्कर हेडक्वार्टर में पाक फौज के ग्रुप कमांडर ने ताज पर हमले की एकैडमिक फिल्म दिखाई। लश्कर ने कहा कि हिंदुस्तानी हमारे दुश्मन हैं। > लश्कर को आतंकी सूची में डालने पर अमेरिका के खिलाफ केस करने की बात उठी तो लश्कर आतंकी जकी ने कहा- मैं आईएसआई से बात करूंगा। हमारे जैसे सभी संगठन आईएसआई के तहत ही काम करते हैं।  > लश्कर मुंबई में हथियारों से भरी एक और बोट भेजना चाहता था, जिसे पाक फौज ने मना कर दिया था।