दाऊद ने 17 ऑफशोर कंपनियों में लगाया अरबों का कालाधन

नई दिल्ली (6 अप्रैल): पनामा पेपर्स लीक से खुलासा हुआ है कि दाऊद इब्राहीम ने अरबों रुपये का काला धन विदेशों में भेज दिया। भारतीय जांच एजेंसियों के मुताबिक दाऊद के पैसे को भेजने का काम उसका गर्गा इकबाल मिर्ची करता था और इस काम के लिए मिर्ची ने 17 अलग-अलग कंपनियों की मदद ली थी। जानकार सूत्रों के मुताबिक दाऊद का सहयोगी मिर्ची विदेशों में संपत्ति खरीदने के लिए ऑफशोर कंपनियों का इस्तेमाल करता था।

दाऊद ने साइप्रस, तुर्की, मोरक्को और स्पेन जैसे देशों में अरबों रुपये की संपत्ति खरीदी। पनामा लीक्स की ओर से जारी दस्तावेजों के मुताबिक मिर्ची ने 2005 में डेट्स फाउंडेशन के नाम से कंपनी बनाई और उसका कर्ताधर्ता अपने साले अकबर आसिफ उर्फ बाबा आसिफ को बनाया। एक अन्य कंपनी उसने 2010 में बनाई थी, जिसमें उसकी पहली पत्नी हाजरा इकबाल मेमन और दोनों बेटे हिस्सेदार थे। इसके अलावा उसने अपने काले कारोबार के लिए रावेल फाइनेंस एंड होल्डिंग लिमिटेड, लसकॉम्बो लिमिटेड, ओरिएंटल ट्रेडिंग लिमिटेड, मासूम लिमिटेड, हकशॉट नाम से भी कंपनियां स्थापित की। इकबाल मिर्ची की 2013 में दिल का दौरा पड़ने से लंदन में मौत हो गई थी।