क्या क्विड जैसी सफलता पा सकेगी डैटसन रेडी-गो

डैटसन की नई हैचबैक रेडी-गो से पर्दा हट चुका है, अब बस इंतजार है इसके सड़कों पर उतरने का। नए डिजायन को लेकर रेडी-गो काफी वक्त से चर्चा में रही है। डिजायन के मोर्च पर बात करें तो यहां डैटसन ने गो और गो-प्लस एमपीवी के मुकाबले काफी बेहतरीन काम किया है। गो हैचबैक के मुकाबले रेडी-गो कहीं ज्यादा स्टाइलिश है। लेकिन सवाल यह उठाता है कि क्या रेडी-गो डैटसन को वैसी ही सफलता दिला पाएगी जो क्विड ने रेनो को दी है। जानने की कोशिश करेंगे यहां…

पूरी तरह से नई कार

डैटसन ने इसे शुरू से तैयार किया है। यह कार अच्छी दिखती है। यहां डैटसन या निसान सहयोगी कंपनियों की कारों को नए नाम और थोड़े बदलाव के साथ उतारने से बची है। ऐसा हम पहले रेनो पल्स-निसान माइक्रा, रेनो डस्टर- निसान टेरानो समेत कई और कारों में देख चुके हैं। रेडी-गो कहीं से भी क्विड से मिलती-जुलती नहीं है। इसे केवल क्विड वाले प्लेटफॉर्म पर तैयार किया गया है। जो एक अलग बात है। क्विड जहां एक फुर्तीली एंट्री लेवल हैचबैक है वहीं माना जा रहा है कि इंजन और पावर के मिलते-जुलते आंकड़ों के साथ रेडी-गो की परफॉरमेंस भी अच्छी ही होगी।

एक्सटीरियर

क्विड में रेनो ने एसयूवी वाला लुक दिया है, लेकिन रेडी-गो में डैटसन ऐसा करने से बची है। इसमें नए डिजायन के साथ हैचबैक कार के पारंपरिक लुक को बरकरार रखा गया है। हालांकि यह भी ऊंची नज़र आती है। एंट्री लेवल सेगमेंट में मौजूद कारों के मुकाबले यह कहीं से भी कमतर नहीं दिखती है। हुंडई इयॉन औरऑल्टो-800 के मुकाबले यह ज्यादा मॉर्डन नज़र आती है। क्विड से भी यह कम स्टाइलिश नहीं है।

रेडी-गो के हैडलैंप्स और बंपर को नए डिजायन में दिया गया है। इसमें चौड़े व्हील आर्च मौजूद हैं। साइड में बोल्ड लाइनें दी गई हैं। पीछे की तरफ टेललैंप्स को भी नए स्पोर्टी डिजायन में दिया गया है। आगे और पीछे फॉक्स स्किड प्लेट मिलेंगी। टायरों पर ट्विन-ट्राई स्पोक व्हील कैप दिए गए हैं।

डैटसन पहले भी अपनी कारों की कीमतों को काफी आकर्षक और प्रतिस्पर्धी रखती आई है। रेडी-गो के मामले में भी यही उम्मीद की जा सकती है। माना जा जा रहा है कि इसे क्विड से कम दाम पर उतारा जाएगा। यहां सिर्फ एक ही समस्या डैटसन के सामने आ सकती है वो ये कि डैटसन का देश में डीलर नेटवर्क काफी कम है। हालांकि यहां डैटसन को निसान की मदद मिल सकती है। वहीं दूसरी तरफ डैटसन के मुकाबले रेनो का डीलर नेटवर्क कहीं ज्यादा है। क्विड की सफलता में इसका भी बड़ा हाथ रहा है। कुल मिलाकर कहा जाए तो शुरू में रेडी-गो को बड़े शहरों में अच्छी शुरुआत मिल सकती है।

कारदेखो

क्या क्विड जैसी सफलता पा सकेगी डैटसन रेडी-गो