दार्जिलिंग हिंसा: गोरखा जनमुक्ति मोर्चा ने बुलाया 1 महीने का बंद

नई दिल्ली (11 जून ): पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग में भड़की हिंसा के बाद हालात काबू में नजर आ रहे हैं। इस बीच गोरखा जनमुक्ति मोर्चा (जीजेएम) ने एक महीने तक सरकारी दफ्तरों, नगरनिगमों और बैकों के शट-डाउन का आह्वान किया है। इसके बाद अब इस पहाड़ी क्षेत्र में अनिश्चितता की स्थिति एक बार फिर पैदा हो सकती है।

गौरतलब है कि दार्जिलिंग में स्थिति बिगड़ने पर बंगाल सरकार को वहां सेना बुलानी पड़ी थी। यहां जीजेएम समर्थकों और पुलिस के बीच गुरुवार को झड़पें हुई थीं। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने जहां बम और पत्थर का इस्तेमाल कर रहे लोगों के साथ किसी तरह के समझौते से इनकार कर दिया है, वहीं जीजेएम ने भी अब बंगाल सरकार के साथ सहयोगात्मक रवैया न अपनाने का मन बना लिया है। जीजेएम को विपक्षी ट्रेड यूनियन का समर्थन मिला है जिन्होंने रविवार को टी-गार्डन बंद रखने का आह्वान किया है।

हालांकि, यह देखना अभी बाकी है कि जीजेएम प्रमुख बिमल गुरुंग कब तक अपना प्रदर्शन जारी रख सकते हैं, लेकिन मुख्यमंत्री का रुख कैसा रहने वाला है उन्होंने यह दिखा दिया है।

जीजेएम महासचिव रोशन गिरि ने शनिवार को एक महीने के बंद का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि सरकारी दफ्तरों को काम नहीं करने दिया जाएगा, बैंक सप्ताह में सिर्फ2 दिन काम करेंगे, लेकिन शिक्षण संस्थानों, परिवहन और आपात सेवाएं जारी रहेंगे। उन्होंने कहा कि हमारा लक्ष्य बिल्कुल साफ है। हम आम जनजीवन और पर्यटन को प्रभावित नहीं होने देंगे, लेकिन प्रशासन शक्तिहीन हो जाए।