ग्रीमाणों की सर्तकता से टला बड़ा रेल हादसा

नई दिल्ली ( 9 फरवरी ): बुधवार को एक बड़ा रेल हादसा होने से टल गया। नई दिल्ली-डिब्रूगढ़ राजधानी एक्सप्रेस (12236) के बिहार के खगड़िया जिले के गांव मानसी से सुबह 6:35 बजे गुजरती है, लेकिन ट्रेन की पटरी क्षतिग्रस्त थी। मानसी गांव के लोगों ने टूटी पटरी देखकर सुबह 6:05 बजे स्टेशन मास्टर को सूचित किया और स्टेशन मास्टर ने तत्काल कार्रवाई की। खगड़िया रेलवे स्टेशन से मानसी की दूरी लगभग 9 किलोमीटर है।

कटिहार जीआरपी के मुताबिक, ग्रमीणों की सूचना के बाद नई दिल्ली-डिब्रूगढ़ राजधानी खगड़िया स्टेशन पर लगभग 3 घंटे तक खड़ी रही। इसके अलावा कटिहार-पटना इंटरसिटी एक्सप्रेस को भी खगड़िया रेलवे स्टेशन पर रोके रखा गया। पुलिस मामले की जांच कर रही है तथा रेल पटरी को क्षतिग्रस्त करने वाले असामाजिक तत्वों की खोज कर रही है।

हाल ही में उत्तर भारत में ट्रेन दुर्घनाओं कराने का प्रयास करने में आतंकवादियों का नाम सामने आने के बाद पुलिस को संदेह है कि इसमें भी आतंकवादियों का हाथ हो सकता है। हालांकि पुलिस इसे मात्र संदेह के रूप में लेकर जांच कर रही है। खबरों के मुताबिक, पुलिस को संदेह है कि इस साजिश के तार सोमवार को बक्सर में रेलवे ट्रैक के पास हुए धमाके से भी जुड़े हो सकते हैं।

वहीं, ईस्ट सेंट्रल रेलवे के चीफ पब्लिक रिलेशन ऑफिसर राजीव रजक ने कहा कि रेलवे ने ईसीआर के पांच डिविजन की सभी आरपीएफ पोस्ट्स के लिए हाई अलर्ट जारी कर दिया है। उन्होंने बताया कि आरपीएफ के जवानों से रात में रेलवे ट्रैक्स पर पेट्रोलिंग करने को कहा गया है।