US आर्मी में था डलास में पुलिसकर्मियों पर गोली बरसाने वाला शख्स

नई दिल्ली(9 जुलाई): यूएस के डलास में प्रदर्शन के दौरान 5 पुलिसकर्मियों को मारने वाला माइका जेवियर जॉनसन सेना में था। अफगानिस्तान वॉर में हिस्सा ले चुका माइका 2015 में सेना छोड़ने के बाद आतंकी गुट से जुड़ गया था। 

ये गुट पुलिस और आर्मी पर्सन्स से नफरत करता था। बता दें कि पुलिस के एक ब्लैक शख्स को मारने के विरोध में कई लोग प्रोटेस्ट कर रहे थे। इसी दौरान माइका ने 12 पुलिस जवानों पर गोलियां चलाईं। माइका के गोली चलाने के बाद उसके दोस्तों ने कई खुलासे किए है। माइका ने 2009 में आर्मी ज्वाइन की थी। अफगानिस्तान में वह नवंबर 2013 से जुलाई 2014 तक रहा।

माइका के साथ 420th इंजीनियर ब्रिगेड में साथ रहे एक दोस्त ने बताया कि वह एक अच्छा सैनिक नहीं था। उसका निशाना भी अच्छा नहीं था। 25 साल के माइका ने आर्मी छोड़ने के बाद 'ब्लैक पेंथर' गुट ज्वाइन कर लिया। ये गुट पुलिस से नफरत करता था।

अफगानिस्तान वॉर से आने के बाद वह पूरी तरह बदल गया था। माइका के दोस्त ने फॉक्स न्यूज को बताया कि वह कुछ मुद्दों को लेकर नाराज था लेकिन उसने ये कभी नहीं कहा कि वह किसी को नुकसान पहुंचाएगा। वह पूरी तरह नॉर्मल था और एक अच्छा दोस्त था। उसके अफगानिस्तान ने डिप्लॉयमेंट के बाद हम दोनों का कॉन्टैक्ट नहीं पाया। मैं अभी तक नहीं समझ पा रहा हूं कि उसने जवानों पर गोली क्यों चलाई।