दलित नेता का दावा- जेल में रातभर चिल्लाता रहता है राम रहीम- मेरा क्या कसूर

नई दिल्ली(1 सितंबर): साध्वियों से रेप करने के मामले में जेल में बंद डेरा सच्चा सौदा का प्रमुख राम रहीम रात-रात भर चिल्लाता रहता है कि ‘मैंने क्या किया, मेरा क्या कसूर है।’ पहले दो दिन केवल फल खाए। मिनरल वॉटर ही पीया। 

- राम रहीम हरियाणा के रोहतक जिले की सुनारिया जेल की अप्रूवर सेल यानी चक्की में बंद है। उसपर नजर रखने के लिए दो पुराने कैदी यानी नंबरदारों को उसके साथ ही रखा गया है।

-  जेल में उसकी सेल के पास बंद दलित नेता स्वदेश किराड़ ने जमानत पर बाहर आने के बाद यह दावा किया है। 

- स्वदेश किराड़ सरकारी वाहनों में तोड़फोड़ मामले में नौ महीने से जेल में बंद था। 

- किराड़ के मुताबिक, बाबा ने 25 और 26 अगस्त को कुछ नहीं खाया। जरा अन्न भी नहीं लिया। मिनरल वाटर के पानी की बोतल जरूर बायो-मीट्रिक सिस्टम से अपने खाते से ली। फ्रूट भी अपने कैदी वाले खाते से ही लिए। 

- चक्की में बंद करने पर वह हाथ जोड़ने लगा और बोला कि मुझे चक्की में डर लगता है। मैं यहां बंद नहीं हो सकता। बाद में पूरी रात चिल्लाता रहा कि ‘मैं कि कित्ता ए, साड्डा कि कसूर ए।’ 

- बाबा को सेल से बाहर नहीं निकाला जा रहा। गुरमीत के वकील गुरदास सिंह गुरुवार को जेल में हलफनामा साइन करवाने पहुंचे थे। फिलहाल गुरमीत का कोई परिजन जेल में मिलने के लिए नहीं आया। 

- किराड़ ने कहा कि रोहतक जेल में करीब 1300 बंदी हैं। रोजाना 150 की कोर्ट में तारीख होती है। किसी का हाईकोर्ट का मामला है तो किसी की जमानत याचिका लगी है। इतने बंदियों के मानवाधिकारों का हनन किया गया है। जिनकी तारीखें थी उनकी तारीखें आगे बढ़ गई। किसी की जमानत एक महीना लेट हो गई। किसने ऐसे आदेश दिए कि अन्य बंदियों के भी अधिकार छीन लिए गए।