OMG! बरेली के इस मंदिर में दलितों के प्रवेश पर है 'पाबंदी'

नीरज आनन्द, बरेली (5 अगस्त): यूपी के बरेली में एक ऐसा मंदिर है जहां पर दलितों के प्रवेश पर पूरी तरह से पाबंदी है। पिछले 50 सालों से यहां पर दलितों ने कभी पूजा पाठ नहीं किया। जब भी दलित समाज के लोगो ने मंदिर में पूजा पाठ करना चाहा, तो सवर्ण समाज के लोग उन्हें मंदिर में घुसने से रोक दिया गया।

- एक बार फिर दलित समाज के लोग इस मंदिर में पूजा पाठ करना चाहते और सबन में जलाभिषेक भी पर अनुमति नहीं है। जिस वजह दलित समाज के लोगो ने पुलिस से शिकायत की है।  - वही अधिकारियो का भी मानना है कि मामला गंभीर है और इसकी जांच कराई जा रही है। - बरेली जिला मुख्यालय से लगभग 70 किलोमीटर दूर बहेड़ी तहसील में एक गाँव है बुझिया, जहाँ पर बने भगवान् भोलेनाथ के मंदिर में पिछले 50 सालों से कभी किसी दलित को पूजा पाठ नहीं किया, ना ही कभी सावन में जलाभिषेक किया। - वहीं कुछ ठेकेदारों से जिन्होंने भगवान के मंदिर पर भी कब्जा जमा रखा है।  - इन लोगो का कहना है कि ये मंदिर लगभग पचास साल पहले चौधरी रंजीत सिंह ने अपनी निजी जमीं पर इसका निर्माण कराया था। जिसमे उन्ही का परिवार पूजापाठ किया करता था उनके बाद यह प्रथा दलितों पर लागू हो गयी अब इस मंदिर में बर्षो से गॉव के दलित समाज को छोड़ कर सभी पूजा पाठ करते है।  - इन लोगो का मानना है कि जो पुरानी प्रथा चली आ रही है वही चलने दी जायेगी। किसी भी नई प्रथा को शुरू नहीं होने दिया जाएगा। - इस मामले में दलित समुदाय के लोगो ने पुलिस से शिकायत की जिसके बाद अधिकारियो ने दोनों पक्षों के लोगो को बुलाकर मामला शांत करवा दिया।  - लेकिन उसके बावजूद दलितों को मंदिर में पूजा पाठ नहीं करने दिया जा रहा है।  - पुलिस का कहना है कि अगर दलित समाज की तरफ से कोई तहरीर मिलती है तो कार्यवाही की जायेगी।  - गौरतलब है कि ये मंदिर 50 साल पहले चौधरी रंजीत सिंह ने अपनी निजी जमीन पर बनबाया था। - हालांकि की चौधरी रंजीत सिंह अब इस दुनिया में नहीं है। लेकिन गाँव के सवर्ण समाज के लोग बहुसंख्यक है जिस वजह से दलित समाज के लोगो को वहां डर के रहना होता है।

* सांकेतिक तस्वीर