भारत ने कभी मेरा उपयोग चीन के खिलाफ नहीं किया: दलाई लामा

नई दिल्ली (5 अप्रैल): अरुणाचल के दौरे पर धर्मगुरु दलाई लामा के दौरे को लेकर चीन भड़क उठा है। इसी बीच दलाई लामा ने मीडिया से बातचीत करते हुए साफ किया कि भारत ने मुझे चीन के खिलाफ कभी इस्तेमाल नहीं किया। भले ही कुछ लोग मुझे दानव मानते हों, लेकिन इससे कोई फर्क नहीं पड़ता।"


तिब्बतियों के आध्यात्मिक गुरु दलाई लामा अरुणाचल के 9 दिनों के दौरे पर हैं। उन्होंने मंगलवार को वेस्ट कामेंग डिस्ट्रिक्ट के बोमडिला से अपना दौरा शुरू किया है। दलाई लामा ने कहा, "मैं प्राचीन भारतीय विचारों का दूत हूं। मैं अहिंसा, शांति, सद्भाव और धर्मनिरपेक्ष नैतिकता की बात करता हूं। मैं एक बौद्ध हूं। पूरे हिमालय क्षेत्र में पारंपरिक बौद्ध धर्म फैला हुआ है और आधुनिक भौतिकी बौद्ध दर्शन पर ही आधारित है।"


उन्होंने कहा कि अरुणाचल प्रदेश से मेरा खास जुड़ाव है, ये मेरे लिए एक खास जगह है क्योंकि 1959 में मैं यहीं से भारत में आया था, भारत पहुंचकर ही मुझे पहली बार आजादी मिली थी।