'जिन्‍ना-नेहरू' वाले बयान पर दलाई लामा ने मांगी माफी, कांग्रेस ने कहा- बयान के पीछे मोदी सरकार का हाथ

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (10 अगस्त): तिब्बत के आध्यात्मिक गुरू दलाई लामा ने महात्मा गांधी और मोहम्मद अली जिन्ना को लेकर दिए गए अपने बयान पर माफी मांग ली है। उन्होंने कहा कि अगर मेरा बयान गलत था, तो मैं उसके लिए माफी मांगता हूं। आपको बता दें कि बुधवार को दलाई लामा ने एक कार्यक्रम में कहा था कि महात्मा गांधी चाहते थे कि मोहम्मद अली जिन्ना देश के शीर्ष पद पर बैठें, लेकिन पहला प्रधानमंत्री बनने के लिए जवाहरलाल नेहरू ने ‘आत्म केंद्रित रवैया’ अपनाया था। दलाई लामा के इस बयान पर काफी हंगामा हुआ था।

कांग्रेस ने दलाई लामा के बयान के पीछे केन्द्र की मोदी सरकार का हाथ होने की आशंका जताई है। कांग्रेस नेता शाक्ति सिंह गोहिल का कहना है कि दलाई लामा को वो बहुत सम्‍मान से देखता है। सच्‍चाई सामने जरूर आएगी और पता चलेगा कि कैसे बयानबाजी के पीछे कोई ना कोई मोदी की चाल जरूर निकलेगी। वहीं उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राजबब्बर ने दलाई लामा के बयान पर टिप्पणी करते हुए कहा कि आजकल तो देश में इतिहास को तोड़-मड़ोर कर पेश करने का फैशन है । वे भी उसमें आ गए होंगे । जो शर्णार्थी हैं वे भी सत्तापक्ष के लिए कुछ न कुछ कर रहे हैं । उनकी उम्र भी हो गई है इसीलिए हम बुरा नहीं मानते । वर्ना नेहरु जी ने उनके लिए क्या किया ये तो सब जानते हैं ।