दही-हांडी को लेकर बॉम्बे HC का दिशानिर्देश, 14 साल के गोविंदा ले सकेंगे हिस्सा

विनोद जगदाले, मुंबई (7 अगस्त): मुंबई समेत पूरे महाराष्ट्र में दही हांडी कार्यक्रम को लेकर जहां तैयारियां जोरों पर है वहीं बॉम्बे हाईकोर्ट ने इस सिलसिले में दिशानिर्देश जारी किए हैं। हाईकोर्ट ने राज्य सरकार की उस दलील को स्वीकार किया है जिसमें कहा गया था कि 14 साल से कम बच्चे की श्रेणी में आते हैं। यानी अब 14 साल से ज्यादा उम्र का शख्स दही-हांडी में हिस्सा ले सकेगा।
 

इसके अलावा बॉम्बे हाईकोर्ट ने दही-हांडी के दौरान पिरामिड का आकार कितना हो इसका निर्णय राज्य सरकार पर छोड़ दिया है। दरअसल राज्य सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में दही-हांडी में गोविंदाओं की सुरक्षा को लेकर हलफनामा दाखिल किया था, बॉम्बे हाईकोर्ट ने उसी हलफनामे को बॉम्बे हाईकोर्ट ने आधार माना।

इससे पहले सरकार ने कोर्ट में दिए अपने हलफनामे में कहा कि सभी दाही हांडी आयोजनों के लिए गद्दों और मेट्रेस की लेयर का इंतजाम किए जाएंगे और इस कार्यक्रम में हिस्सा लेने वाले गोविंदाओं का बीमा किया जाएगा। साथ ही उन्हें चेस्ट गार्ड हेलमेट और सेफ्टी बेल्ट मुहैया कराई जाएगी। इतना ही नहीं हर आयोजन स्थल पर नाइलॉन की रस्सी का मजबूत जाल तैयार रहेगा और आयोजन स्थल पर फर्स्ट एड और एंबुलेंस तैयार रहेगा। जख्मी होने पर गोविंदा को तुरंत मेडिकल सुविधा दी जाएगी और फौरन अस्पताल भेजा जाएगा। आयोजन के लिए निगम, पुलिस, फायर और अन्य संबंधित विभागों से पहले अनुमति ली जाएगी। और राज्य सरकार इन सब निर्देशों का ठीक से पालन हो इसका ध्यान रखेगी।