अखलाक के परिवार के खिलाफ FIR की मांग के लिए गांव वालों की कोर्ट में गुहार

नई दिल्ली (9 जून): बिसाड़ा गांव के निवासियों ने गुरुवार को कोर्ट में मोहम्मद अखलाक के परिवार के खिलाफ कथित गौहत्या के आरोप में एफआईआर दर्ज करने के लिए गुहार लगाई। अखलाक की 9 महीने पहले इस शक में हत्या कर दी गई थी कि उसके परिवार ने अपने घर में बीफ रखा था। 

'इंडियन एक्सप्रेस' की रिपोर्ट के मुताबिक, एक सीनियर प्रॉसीक्यूशन ऑफिसर ने बताया, "बिसाड़ा निवासियों ने आज गौतम बुद्ध नगर के चीफ ज्यूडीशियल मजिस्ट्रेट के समक्ष सीआरपीसी की धारा 156 (3) के तहत एक एप्लीकेशन की। जिसमें पुलिस को अखलाक के परिवार के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का निर्देश देने की मांग की गई।"

धारा 156 (3) एक मजिस्ट्रेट को शिकायत पर आरोपियों के खिलाफ पुलिस को एफआईआर और जांच का आदेश देने की शक्ति देता है।

कोर्ट इस मामले की सुनवाई 13 जून को करेगा। उन्होंने कहा, "अखलाक के परिवार के सदस्यों को जवाब देने का अवसर दिया जाएगा, जिसके बाद कोर्ट फैसला करेगा कि एफआईआर दर्ज करने के लिए पुलिस को आदेश दिए जाएं या नहीं।"

बिसाड़ा गांव में पिछले सप्ताह हुई महापंचायत में गांव वालों ने पुलिस को आखिरी बार 20 दिनों के भीतर एफआईआर दर्ज करने के लिए अल्टीमेटम दिया था। जब मथुरा की फॉरेन्सिक लैब की तरफ से आई रिपोर्ट में कहा गया कि मृतक के परिवार से पाया गया मीट ''गाय या उसकी संतान का था।"