BREAKING : ‘क्यांत’ चक्रवात का खतरा, तैयार है नेवी

नई दिल्ली ( 26 अक्टूबर ) : बंगाल की खाड़ी में विक्षोभ और गहरा गया और ‘क्यांत’ चक्रवात में बदल गया। भारत के मौसम विभाग ने आज यह जानकारी दी। 

भारतीय नेवी ने कहा, वह ‘क्यांत’ चक्रवात से निपटने के लिए तैयार है। उसने इससे निपटने के लिए पूरी तैयारी कर ली है। ‘क्यांत’ चक्रवात पूर्वी तट से कभी भी टकरा सकता है। 

मौसम विभाग के चक्रवात चेतावनी मंडल की ओर से जानकारी दी गई, ‘पूर्वी केंद्रीय बंगाल की खाड़ी के उपर बना विक्षोभ पश्चिम-उत्तर पश्चिम की ओर बढ़ गया, इसकी तीव्रता बढ़ गई और यह चक्रवाती तूफान ‘क्यांत’ में बदल गया। यह पोर्ट ब्लेयर के उत्तर-उत्तरपश्चिम में 620 किमी दूर, गोपालपुर के दक्षिण-दक्षिणपूर्व में 710 किमी दूर और विशाखापत्तनम के पूर्व में 850 किमी दूर सक्रिय है।’

इसमें आगे कहा गया है, ‘अगले 72 घंटों में शुरूआत में यह प्रणाली पहले पश्चिम-उत्तर पश्चिम की ओर बढ़ेगी, फिर पश्चिम-दक्षिणपश्चिम में पश्चिम के केंद्र में स्थित बंगाल की खाड़ी की ओर बढ़ेगी।’

हालांकि क्यांत के मैदानी इलाकों तक पहुंचने की संभावना नहीं है। मौसम विभाग ने ओडिशा और आंध्र प्रदेश के उत्तरी तटीय इलाकों में 27 अक्तूबर से तूफानी हवाएं चलने की चेतावनी दी है। इनकी गति 45-55 किमी प्रतिघंटे से लेकर 65 किमी प्रतिघंटे तक हो सकती है। मछुआरों को ओडिशा और उत्तरी आंध्र प्रदेश में तटीय इलाकों में समुद्र में नहीं उतरने की सलाह दी गई है।