पूर्वी तट की ओर बढ़ रहा है ‘क्यांत’ चक्रवात, मचा सकता है तबाही, नेवी है अलर्ट पर

नई दिल्ली ( 27 अक्टूबर ) : चक्रवात ‘क्यांत’ आंध्र प्रदेश तट की ओर बढ़ रहा है और इसके तटीय इलाकों तक पहुंचने की आशंका है। मौसम विभाग के अधिकारियों के पूर्वानुमान के मुताबिक शनिवार को इसके प्रकाशम जिले के तटीय इलाके में पहुंचने की संभावना है। 

मौसम विभाग के मुताबिक इस वक्‍त चक्रवात विशाखापत्‍तनम से 570 किमी दूर बंगाल की खाड़ी में केंद्रित है। अगले 24 घंटों में इसकी तीव्रता में इजाफा होने की उम्‍मीद है।   

इसके चलते गुरुवार से तटीय इलाकों में बारिश शुरू होने का अनुमान व्‍यक्‍त किया गया है। 28 अक्‍टूबर को दक्षिण तटीय आंध्र प्रदेश में भारी बारिश का अनुमान व्‍यक्‍त किया गया है।

विशाखापत्‍तनम चक्रवात चेतावनी केंद्र ने चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि गुरुवार से सागर में तेज लहरें उठेंगी और तटीय इलाकों में तेज हवाएं बहेंगी।  मछुआरों को इस दौरान सागर में नहीं जाने की सलाह दी गई है और जो पहले से ही सागर में मौजूद हैं, उनसे वापस लौटने के लिए कहा गया है। 

नौसेना है तैयार 

नौसेना ने कहा कि कई जहाज, 5000 सैनिकों के ,गोताखोरों, डॉक्टरों, रबर की नौकाएं, हेलीकाप्टरों और राहत सामग्रियों के साथ स्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं। 

मछुवारों को सलाह दी गई है कि वे चक्रवात के दौरान समुद्र में जाने से बचें और जो समुद्र में गए हैं उनसे वापस लौटने को कहा गया है। मौसम विभाग ने कहा है कि दीपावली के दौरान आंध्र, तमिलनाडु और ओडिशा में भारी बारिश हो सकती है। कहा गया कि दक्षिणी ओडिशा में 27 अक्टूबर को समुद्र की हालत ज्यादा खराब हो सकती है। ऐसी ही हालत 27 से 30 अक्टूबर के दौरान आंध्र के तटों की भी हो सकती है।