भूल कर भी ना खोलें ये मेल, 1 सेकेंड में लूट जाएंगे

नई दिल्ली(16 मई): पिछले दो दिनों से ग्लोबल साइबर अटैक ने दुनिया के करीब 100 देशों की नींद उड़ा रखी है। इस साइबर अटैक में दुनिया भर के करीब 100 देशों के 1,50,000 से ज्यादा कंप्यूटर सिस्टम में वॉनाक्राई रैनसमवेयर नाम का वायरस आ गया था।


इस रैनसमवेयर अटैक ने उन नेटवर्क और कंप्यूटर को ज्यादा नुक्सान पहुंचाया है जो पुराने और आउट डेटेड सॉफ्टवेयर इस्तेमाल कर रहे थे। जैसे कि विंडोज XP यूजर्स और पायरेटेड विंडोज यूजर्स। लोगों की फाइल्स लॉक हो गई हैं और ऐक्सेस रीस्टोर करने के बदले में उनसे फिरौती की तरह पैसे मांगे जा रहे हैं।


- इसी को देखते हुए साइबर सुरक्षा एजेंसी कंप्यूटर इमर्जेंसी रिस्पॉन्स टीम ऑफ इंडिया (सीईआरटी-इन) ने इंटरनेट यूजर्स को रैन्समवेयर अटैक से बचने के लिए 

अलर्ट जारी किया है।


जानिए कैसे बचें इन साइबर अटैक से?


1. माइक्रोसॉफ्ट का सिक्योरिटी पैच करें इंस्टॉल

किसी भी मैलवेयर और वायरस के अटैक से बचने के लिए माइक्रोसॉफ्ट ने विंडोज सिस्टम के लिए एक पैच बनाया है। इस पैच को विंडोज यूजर अपने सिस्टम में तुरंत अपलोड कर सकते हैं।


सीईआरटी-इन के मुताबिक अगर कोई यूजर अपने सिस्टम पर सिक्योरिटी पैच इनस्टॉल नहीं कर पा रहा है तो यह माना जा सकता है कि उसका सिस्टम पहले से ही वॉनाक्राई रैनसमवेयर वायरस के चपेट में आ चुका है। ऐसे में, सीईआरटी-इन ने यह सलाह दी है कि यूजर्स को अपने सिस्टम को बाकी नेटवर्क से तुरंत डिसकनेक्ट कर देना चाहिए, क्योंकि लैन कनेक्शनों के जरिए बाकी कंप्यूटरों को भी यह नुकसान पहुंचा सकता है।


2. ऑथेंटिक एंटी-वाइरस करें इंस्टॉल

अगर आप के लैपटॉप या कंप्यूटर में ऑथेंटिक एंटी वायरस नहीं है तो तुरंत ऑथेंटिक एंटी वाइरस सॉफ्टवेयर इंस्टॉल करें। इससे आप नॉर्मल वाइरस से तो कम से कम बच ही सकते हैं। साथ ही एंटी वायरस के मदद से आप वायरस स्कैन कर मैलवेयर को ब्लॉक कर सकते हैं।


3. 'प्लीज रीड मी' जैसे मैसेज को ना पढ़ें


रैनसम मैलवेयर के जरिए लोगों को प्लीज रीड मी जैसे फाइल, अटैचमेंट, यूआरएल और मेसेज भेजे जाते हैं और उन्हें फंसाया जाता है। इन फाइलों के आखिर में .docx, .lay6, .accdb, .java, और .sqlite3, लिखा हो सकता है। ऐसी फाइलों को कभी भी ना खोलें।


- किसी भी अनजान मेल को ना खोलें। आपके कॉन्टैक्ट लिस्ट में मौजूद लोग भी अगर इस तरह के मेल भेजें तो उसे भी न खोलें।


4. हर सिस्टम से खुद को करें लॉगआउट

अकसर ऐसा होता है कि हम अपने पर्सनल कंप्यूटर या ऑफिस के कंप्यूटर में अपना ईमेल और बाकी दूसरे अकाउंट लॉगिन रखतें हैं। अगर ऐसा करते हैं तो तुरंत सभी सिस्टम से अपने अकाउंट को लॉगआउट करें और फिर से लॉगइन कर इस्तेमाल करें।


5. मोबाइल ऐप या शॉपिंग ऐप से बैंक अकाउंट डिटेल्स को करें डिलीट

अगर आप ने अपना बैंक अकाउंट डिटेल्स किसी भी शॉपिंग एप्लीकेशन में सेव कर रखा है तो वहां से तत्काल हटा लें। जरूरत के मुताबिक ही बिना बैंक अकाउंट नंबर सेव किए ही शॉपिंग ऐप का इस्तेमाल करें।