क्यूबा में अमेरिकियों पर रहस्यमयी हमला, बहरे हो रहे हैं लोग

न्यूयॉर्क (18 सितंबर): क्यूबा में अमेरिकी दूतावास में काम कर रहे राजनयिकों पर अजीब हमले हो रहे हैं। अमेरिकी दूतावास के कई कर्मियों की रहस्यमयी कारणों से सुनने की क्षमता स्थायी रूप से कमजोर हुई है। हमलों की वजह से राजनयिकों के दिमाग में सूजन, सिर में तेज दर्द, असंतुलन और संज्ञान खोने जैसे लक्षण भी देखे गए हैं। अमेरिकी जांचकर्ताओं का कहना है कि उनके राजनयिकों पर सीक्रिट सॉनिक हमले किए जा रहे हैं। यानी उनके राजनयिकों को एक ऐसे अडवांस्ड डिवाइस से निशाना बनाया जा रहा है जिसकी कोई आवाज नहीं होती लेकिन वह अपने आसपास के लोगों के कानों पर बहुत बुरा असर डालता है। हालांकि क्‍यूबा ने इन घटनाओं में किसी भी तरह से शामिल होने की बात से इनकार किया है।

ऐसा माना जा रहा है कि ऐसे डिवाइस अमेरिकी राजनयिकों के घर के बाहर और अंदर छोड़ दिए गए हैं। अब तक इन हमलों से 21 राजनयिकों के प्रभावित होने की अमेरिका ने पुष्टि की है। अमेरिकी विदेश सेवा संगठन की मानें तो यह हमले साल 2016 के आखिर में ही शुरू हो गए थे। 

आपको बता दें कि पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने क्यूबा के साथ लगभग पचास साल के बाद कूटनीतिक संबंध स्थापित किये थे। उनके प्रयासों की वजह से ही 2015 में अमेरिका के दूतावास ने वहां काम करना शुरू किया। अमेरिका के मौजूदा राष्ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने ओबामा के कुछ फैसलों को वापस ले लिया है, लेकिन हवाना में दूतावास अभी भी काम कर रहा है। हालांकि अब लगता है कि यह दूतावास भी जल्‍द बंद कर दिया जाएगा। जानकारी के मुताबिक ट्रम्प प्रशासन हवाना में अपने दूतावास को फिर से बंद करने पर विचार कर रहा है।