गिर जायेंगी पेट्रोल की कीमतें , भारत की इकोनॉमी में होगा जबरदस्त उछाल

नई दिल्ली (16 अक्टूबर):  कच्चे तेल की कीमतों को लेकर जारी कयासों के बीच एक अंतर्राष्ट्रीय विशेषज्ञ ने ऐसी भविष्यवाणी कर दी है जिससे समूचे उद्योग जगत में हड़कंप मचा हुआ है। लांगव्यू इकोनॉमिक्स नाम की एक एजेंसी के प्रमुख स्ट्रेटजिस्ट क्रिस वाटलिंग ने कहा है कि अगले छह से आठ वर्षो में कच्चे ऑयल की मूल्य 10 डॉलर प्रति बैरल (प्रति बैरल 158 लीटर) पर आ जाएगी। अभी यह 56-58 डॉलर प्रति बैरल के स्तर पर है।  

अगर यह हकीकत साबित हो जाती है तो यह हिंदुस्तान की अर्थव्यवस्था को बदल सकती है। इससे पेट्रोल और डीजल की मूल्य में भारी कटौती हो सकती है। राष्ट्र में व्यापार घाटे की समस्या को यह छू-मंतर कर सकता है। राष्ट्र की सबसे बड़ी ऑयल कंपनी ओएनजीसी के पूर्व सीएमडी दिनेश के सर्राफ का कहना है ‘इस पर फिल्हालभरोसा करना कठिन है कि क्रूड की मूल्य कभी 30 डॉलर प्रति बैरल से नीचे भी जा सकती है लेकिन अगर ऐसा होता है तो यह राष्ट्र की अर्थव्यवस्था के लिए बहुत लाभकारी साबित होगा। हम अपनी आवश्यकता का 75 फीसद क्रूड बाहर से मंगवाते हैं। इससे कई तरह का दबाव पूरी अर्थव्यवस्था पर रहता है।