CRPF से गृह मंत्रालय नाराज, 2 दिन में मांगी रिपोर्ट

नई दिल्ली (15 अप्रैल): छत्तीसगढ़ के सुकमा में नक्सली हमले में 26 जवानों के शहीद होने पर गृह मंत्रालय CRPF से नाराज है। गृह मंत्रालय ने सीआरपीएफ से पूछा कि जब ऑपरेशन के लिए जवान निकलते है, तब भी इतनी बड़ी कैजुअल्टी नहीं होती, फिर डिफेंसिव मोड में रहे जवानों के साथ कैसे हुई घटना। गृह मंत्रालय ने अधिकारियों के बारे में भी पूरी डिटेल्ड मांगी हैं, जो वहां पर मौजूद थे।


नक्सलियों ने अपनी पुरानी रणनीति के तहत ही ये हमला किया था। पहले से ही घात लगाए नक्सलियों ने पेड़ों के नीचे सुस्ता रहे जवानों पर एकाएक हमला किया। जवान कुछ समझ पाते इससे पहले ही नक्सलियों के शुरुआती हमले में 25 जवान शहीद हो गए, कई जावानों को गोलियां लगी।


करीब 100 से अधिक जवान दो टुकड़ियों में रोड ओपनिंग के लिए निकले हुए थे, जब तक जवानों का दूसरा दल हमले वाली जगह पर पंहुच पाता तब तक नक्सली शहीद जावानों के 20 से अधिक आधुनिक हथियार लूट चुके थे।