न्यूज 24 के चेतन चीता के सम्मान की तस्वीर को CRPF ने बनाया कवर फोटो

नई दिल्ली (18 अगस्त): सेंट्रल रिजर्व पुलिस फोर्स (CRPF) ने अपने वार्षिकांक के कवर पेज पर गंभीर रुप से घायल होने के बावजूद 3 आतंकियों को मौत के घाट उतारने के बाद मौत को मात देने वाले अपने जांबाज कमांडेंट चेतन चीता को जगह दी है। CRPF ने उस तस्वीर को अपना कवर पेज बनाया है जिसे 13 मई 2017 को उस वक्त खीचीं गई थी जब न्यूज 24 के कॉनक्लेव में गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने चेतन चीता को सम्मानित किया था। इस तस्वीर में चेतन चीता को राजनाथ सिंह सम्मानित कर रहे हैं और उनके साथ न्यूज 24 की एडिटर इन चीफ अनुराधा प्रसाद, CRPF के डीजी आरआर भटनागर के साथ-साथ चेतन चीता की पत्नी भी नजर आ रही हैं।

आपको बता दें कि 14 फरवरी को बांदीपुरा में आतंकियों के साथ मुठभेड़ में चीता घायल हो गए थे। इस मुठभेड़ में 3 जवानों की मौत हो गई थी। इलाके में आतंकियों की मौजूदगी की खबर के बाद सुरक्षा बलों ने सर्च अभियान चलाया था, लेकिन इसकी जानकारी आतंकियों को पहले ही मिल गई थी। चेतन ऑपरेशन की अगुवाई कर रहे थे। आतंकियों से मुठभेड़ के दौरान चीता को तकरीबन 30 गोलियां लगीं। गंभीर रुप से घायल चीता ने हार नहीं मानी और मौके पर ही 3 आतंकियों को ढेर कर दिया। 

बाद में गंभीर रुप से घायल चेतन चीता को श्रीनगर के आर्मी अस्पताल में भर्ती कराया गया, लेकिन उनकी हालत को देखते हुए उन्हें एयर एंबुलेंस के जरिए दिल्ली के एम्स में भर्ती कराया गया। एम्स में तकरीबन एक महीने तक चेतन चीता कोमा में रहे। लेकिन देश की दुआ, डॉक्टरों की मेहनत, उनके परिवार का समर्पण और चेतन चीता की जिजीविषा की वजह से धीरे-धीरे वो कोमा से बाहर आए। तकरीबन एक महीने तक कोमा में रहने के बाद 5 अप्रैल को चेतन चीता एम्स से घर लौट आए।