BJP MLA के विवादित बोल: बिहारी छात्रों को बताया क्रिमिनल, शराब को बताया सोमरस

कोटा (14 मई): शराब के सबसे बड़े समर्थक राजस्‍थान के कोटा से बीजेपी विधायक भवानी सिंह रजावत ने फिर एकबार विवादित बयान दिया है। यूं तो विधायक का विवाद से नाता पुराना है लेकिन इसबार कोटा में बिहार के छात्र की हत्या पर अफसोस जताने के बजाय बीजेपी विधायक ने कोटा में पढ़ने वाले बिहारी छात्रों को अपराधी तक कह दिया है।

राज ठाकरे से दो कदम आगे अब तो बीजेपी के विधायक भी क्षेत्रवाद की सियासत के अलमबरदार हो गए हैं। राजस्थान के कोटे के लाडपुरा से तीन बार जीत चुके बीजेपी विधायक भवानी सिंह रजावत ने कोटा में अपना भविष्य बनाने वाले बिहारी छात्रों पर जहरीला बयान दिया है। भवानी सिंह ने कहा है कि अगर कोटा से क्राइम रेट कम करना है तो बिहारियों को यहां से निकालना होगा।

भवानी सिंह यहीं नहीं रुके, बल्कि उन्होंने बिहारी छात्रों को चिन्हित कर उनपर कानूनी कार्रवाई करने की मांग कर दी है। साथ ही भवानी सिंह को इन छात्रों में कन्हैया भी नजर आने लगा है। बिहारी छात्र की हत्या पर अफसोस जताना तो छोड़िए इस विधायक ने छात्रों को देशद्रोही तक बता दिया।

बीजेपी विधायक भवानी सिंह राजावत का विवादों से पुराना रिश्ता रहा है। लागतार अपने बेतुके बोल से सभी को चैंकाते रहते हैं। बिहारी छात्रों पर आपत्तिजनक बयान देने के बाद विधायक जी शराब की तारीफ कसीदे पढ़ने लगे। 

जब विधायक जी से राजस्थान के एक पूर्व विधायक गुरचरण छाबड़ा की शराब बंदी के खिलाफ आमरण अनशन के दौरान हुई मौत के बारे में सवाल पुछा गया तो मौत का मजाक उड़ाते हुए पहले तो शराब को सोमरस बताया फिर कहा की शराब पीने वाले को शराब उपलब्ध करवाना सरकार का राजधर्म है। 

शराब परोसने की वकालत करने वाले, बिहारी छात्रों को अपराधी बताने वाले विधायक आखिर किसकी शह पर ऐसे जहरीले बयान देते हैं। अब सवाल ये उठता है कि इस तरह के बेतुके बयान पर लगाम कब लगेगा।