MP News: रिटायर्ड प्रिंसिपल ने 2 सूदखोरों से परेशान होकर SP से लगाई मदद की गुहार

मध्य प्रदेश के रायसेन में एक बार फिर सूदखोरी का मामला सामने आया है।

MP News: रिटायर्ड प्रिंसिपल ने 2 सूदखोरों से परेशान होकर SP से लगाई मदद की गुहार
x

रायसेन: मध्य प्रदेश के रायसेन में एक बार फिर सूदखोरी का मामला सामने आया है। यहां दो सूदखोरों डॉ जमाल और जमना कोरी ने रिटायर्ड प्रिंसिपल बंसीलाल पूर्वी से महज 3 लाख 50 हजार रुपये के बदले में 17 लाख रुपये की राशि वसूल करने के बाद 12 लाख रुपए की और मांग की है। 


इसके बाद रिटायर्ड प्रिंसिपल ने रायसेन एस पी विकाश कुमार सहवाल से दोनों सूदखोरों से बचाने की गुहार लगाई है, जिसपर एस पी ने एक्शन भी ले लिया है। पुलिस अधीक्षक अमृत मीणा को मामले की बारिकी से जांच करने का निर्देश दिया जिसके बाद थाना कोतवाली में सूदखोरों पर मामला दर्ज कराया गया।


गौरतलब है कि मध्य प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि सूदखोरों को बख्शा नहीं जाएगा तब से लेकर रायसेन जिला पुलिस प्रशासन भी मुस्तैदी से सूदखोरों पर कार्रवाई कर रहा है। ताजा मामला रायसेन अशोक नगर कॉलोनी वार्ड नंबर 13 निवासी रिटायर्ड प्रिंसिपल बंसीलाल पूर्वी का है जिन्होंने सूदखोरों से परिवार के इलाज के लिए 3 लाख 50 हजार रुपये की राशि ली थी, जिसके बाद सूदखोरों ने 20 और 30 रुपये प्रति सैकड़ा के हिसाब से बंसीलाल पूर्वी से महज 2 साल में 17 लाख रुपए की राशि वसूल करने के बाद भी 12 लाख रुपए की और मांग की। 

.


और पढ़िए - जमीन खरीद के दौरान करोड़ों रुपये की हेरफेर के मामले में सीबीआई ने जे-के बैंक से जुड़े ठिकानों की तलाशी ली




लेकिन बंसीलाल पूर्वी ने इतने पैसे और देने में असमर्थता दिखाई तो दोनों सूदखोरों ने चेक बाउंस करा कर कोर्ट में लगाने की धमकी दी। इसके बाद बंसीलाल पूर्वी ने पुलिस अधीक्षक विकास कुमार साहवाल ने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अमृतलाल मीणा से जांच कर उचित कार्रवाई करने की बात कही। पूरी जानकारी लेने के बाद अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अमृत मीणा ने मामले की बारीकी से तहकीकात करने के बाद देर रात कोतवाली थाने में दोनो सूदखोरों डॉ जमाल खान और जमुना कोरी पर धारा 3 और 4 क तहत मामला दर्ज कराया है।


बताया जा रहा है कि रिटायर्ड प्रिंसिपल बंसीलाल पूर्वी ने अपने परिजनों के इलाज के लिए सूदखोरों से 3 लाख 50 हजार रुपये की राशि ब्याज पर ली थी जिसके बदले में सूदखोरों द्वारा 17 लाख रुपये की वसूली की गई। लेकिन आरोपी ब्याज पर ब्याज लगाकर पैसे को बढ़ाते चले गए और आखिर में रिटायर्ड प्रिंसिपल बंसीलाल पूर्वी का मकान तक बिक गया। 


इसके बाद भी सूदखोरों का दिल नहीं भरा और वह बंसीलाल पूर्वी से 12 लाख रुपये की और मांग करने लगे। सूदखोरों से परेशान होकर बंसीलाल पूर्वी ने पुलिस की शरण में जाना बेहतर समझा और  पुलिस अधीक्षक विकास कुमार सहवाग ने भी पूरे मामले को गंभीरता से लेते हुए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पर उचित कार्रवाई करने के निर्देश दिए। इसके बाद दोनों पर धारा 3 और 4 के तहत कार्यवाही की गई है।


पुलिस अधीक्षक विकास कुमार साह वाल ने लोगों से सूदखोरों से पर कार्रवाई करवाने की बात कही और कहा है कि कृपया आप सभी लोग सूदखोरों से डरे नहीं, इनकी शिकायत करें शासन प्रशासन आपके साथ हैं।




और पढ़िए - क्राइम से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें












Click Here - News 24 APP अभी download करें


Next Story