ग्रेटर नोएडा में महिला डायरेक्टर ने कोरियन नागरिक के 36 लाख रुपये ठगे, कोर्ट ने कहा-मुकदमा दर्ज करो

उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्ध नगर के ग्रेटर नोएडा में एक कोरिया के रहने वाले नागरिक के साथ 36 लाख रुपये की धोखाधड़ी का मामला सामने आया है। हैरत की बात यह है कि यहां कोई साइबर फ्रॉड नहीं हुआ है। बल्कि जमीन के नाम पर एक कंपनी की महिला डायरेक्टर ने ठगी की है।

ग्रेटर नोएडा में महिला डायरेक्टर ने कोरियन नागरिक के 36 लाख रुपये ठगे, कोर्ट ने कहा-मुकदमा दर्ज करो
x

नोएडाः उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्ध नगर के ग्रेटर नोएडा में एक कोरिया के रहने वाले नागरिक के साथ 36 लाख रुपये की धोखाधड़ी का मामला सामने आया है। हैरत की बात यह है कि यहां कोई साइबर फ्रॉड नहीं हुआ है। बल्कि जमीन के नाम पर एक कंपनी की महिला डायरेक्टर ने ठगी की है। पीड़ित कोरियन नागरिक की शिकायत पर कोर्ट ने महिला डायरेक्टर समेत दो लोगों के खिलाफ नॉलेज पार्क थाना पुलिस को मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए हैं। 


प्लॉट खरीदा था, अब सिर पकड़कर बैठा है...

कोर्ट के आदेश पर पुलिस ने ठगी का मुकदमा दर्ज कर मामले की जांट शुरू कर दी है। पुलिस की जांच में सामने आयया है कि कोरियन नागरिक ने ग्रेटर नोएडा में महिला डायरेक्टर से एक इंडस्ट्रियल प्लॉट खरीदा था। प्लॉट प्राधिकरण की जमीन पर था, इसलिए कोरियन नागरिक को बताया गया की प्राधिकरण का बकाया भुगतान हो चुका है। लेकिन महिला ने प्राधिकरण के बचे हुए पैसों का भुगतान नहीं किया था। अब कोरियन नागरिक अपना सिर पकड़ कर बैठा है।






और पढ़िए - ऑनलाइन लूडो खेलने में हुई किशोरी-युवक की दोस्ती, नोएडा में दो बार मिले, फिर हुआ खूनी खेल





कोरियन नागरिक के वकील ने बताई सच्चाई

कोरियन नागरिक के अधिवक्ता एमके राणा ने बताया कि यह एग्रीमेंट पर्ष 2019 में ग्रेटर नोएडा के ईकोटेक वन एक्सटेंशन में इंडस्ट्रियल प्लॉट खरीदने के लिए किया गया था। यह एग्रीमेंट कोरियन नागरिक की कंपनी और महिला डायरेक्टर की ओगान कंपनी में हुआ था। इसमें प्राधिकरण के बचे हुए पैसे ओगान कंपनी को देने थे, लेकिन उन्होंने पैसे नहीं दिए। नियम के मुताबिक जब कोरियन नागरिक अपने प्लॉट पर निर्माण की अनुमति के लिए नोएडा विकास प्राधिकरण पहुंचा तो उसके होश उड़ गए। प्राधिकरण में उसे बताया गया कि इस प्रॉपर्टी पर 36 लाख रुपये का बकाया है। आरोप है कि जब कोरियन नागरिक ने महिला डायरेक्टर से पैसों की मांग की तो उसने पैसे देने से इनकार कर दिया। 


अतिथि को दर-दर भटकाया

कोरियन नागरिक के वकील ने बताया कि पीड़ित हमारे देश में अतिथि है। भारत में अतिथि देवो भवः की परंपरा है, लेकिन यहां अतिथि के साथ ही धोखाधड़ी कर दी। इतना ही नहीं, उसे कई महीनों तक दद-भटकाया। बाद में उनके माध्यम से कोर्ट का दरवाजा खटकाया। जिसके बाद आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की कार्रवाई हुई है। 








और पढ़िए - क्राइम से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

.






Click Here - News 24 APP अभी download करें

Next Story