Online Game: ऑनलाइन गेम खेलने वाले हो जाएं सावधान, खाते में जमा 51 लाख रुपये की राशि पर यूं लगी चपत

आजकल के बच्चों की पहली पसंद है मोबाइल...। इसके बाद कोरोना काल में ऑनलाइन क्लासेज के चक्कर में घरवालों ने बच्चों को मोबाइल थमा दिए। फिर क्या था, एक-एक करके इसके दुष्परिणाम सामने आ रहे हैं। ताजा मामला उत्तर प्रदेश के आगरा जिले का है।

Online Game: ऑनलाइन गेम खेलने वाले हो जाएं सावधान, खाते में जमा 51 लाख रुपये की राशि पर यूं लगी चपत
x

आगराः आजकल के बच्चों की पहली पसंद है मोबाइल...। इसके बाद कोरोना काल में ऑनलाइन क्लासेज के चक्कर में घरवालों ने बच्चों को मोबाइल थमा दिए। फिर क्या था, एक-एक करके इसके दुष्परिणाम सामने आ रहे हैं। ताजा मामला उत्तर प्रदेश के आगरा जिले का है। एक के पिता के खाते से 39 लाख तो दूसरे के पिता के खाते से 12 लाख रुपये कट गए। इतनी बड़ी रकम खाते से कटने पर घरवालों के होश उड़ गए। साइबर सेल मामला आया तो छानबीन में राज खुले। आगरा रेंज साइबर थाने में गेम प्रोवाइडर कंपनी के खिलाफ मुकदमा लिखा गया है।


खास बात यह है कि रेंज साइबर थाना पुलिस भी यह समझ नहीं पा रही है कि किस आधार पर कार्रवाई करे। विशेषज्ञों की राय ली जा रही है। सिंगापुर की गेम प्रोवाइडर कंपनी के पास पैरोकारों की फौज है। वे बोल रहे हैं कि गेम डाउनलोड करते समय कई शर्तें लिखी होती हैं। उन्हें एग्री (स्वीकार) करने पर ही गेम डाउनलोड होता है। गेम में आगे की स्टेज और आधुनिक हथियार खरीदने के लिए भुगतान करना होता है। गेम खेलने वालों ने उसे ओके किया तभी खाते से रकम कटी। इसमें कंपनी की गलती कहां है। वहीं दोनों पीड़ित रिटायर फौजी हैं। रेंज साइबर थाना पुलिस ने भी तय कर लिया है कि कानूनी कार्रवाई करनी है। विधिक राय ली गई है।





और पढ़िए - सावधानः नामी आटा कंपनी की डीलरशीप के नाम पर लगा पांच लाख रुपये का चूना, मुकदमा दर्ज




आगरा के खंदौली थाना क्षेत्र निवासी रिटायर्ड फौजी के खाते से 39 लाख रुपये निकले थे। साइबर थाना पुलिस की जांच में खुलासा हुआ कि यह रकम पेटीएम से कोडा पेमेंट और इसके बाद सिंगापुर के एक खाते में ट्रांसफर दिखाई दी। खाता क्राफ्टन कंपनी का है। इस कंपनी का बैटल ग्राउंड्स इंडिया के नाम से मोबाइल गेम है। जो भारत में बहुत प्रचलित है। जबकि इंडिया में पबजी प्रतिबंधित है। 


फिलहाल रेंज साइबर थाने में क्राफ्टन कंपनी के खिलाफ धोखाधड़ी और आईटी ऐक्ट में मुकदमा लिखा गया है। रेंज साइबर थाना प्रभारी आकाश सिंह ने बताया कि एक अन्य पीड़ित के खाते से 12 लाख रुपये निकले। उनके भी बेटे को यही गेम खेलने की लत लग गई थी।









और पढ़िए - क्राइम से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

.






Click Here - News 24 APP अभी download करें

Next Story