'आतंक और क्रिकेट एक साथ नहीं चलेगा' शिवसेना ने फिर दिखाये तेवर

Sanjay Raut

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (15 जून): पाकिस्तान के साथ विश्वकप में  मैच से  पहले शिवसेना ने अपने तेवर दिखा दिए हैं। शिव सेना सांसद संजय राउत ने कहा है कि हमारी भावना जो पहले थी वो आज भी है कि आत़ंकवाद और क्रिकेट एक साथ नहीं हो सकते, पाकिस्तान के साथ मैच खेलना चाहिये या नहीं ये सरकार को निर्णय लेना चाहिए।  शिव सेना के इस बयान पर हालांकि सरकार या बीजेपी की ओर कोई बयान नहीं आया है लेकिन उसने अपनी नाराजगी जाहिर कर दी है।  इसके अलावा राम मंदिर पर उन्होंने कहा कि  उनके लिए मोदी और शाह ही सबसे बड़ी अदालत हैं। उन्हें विश्वास है कि मोदी और शाह 2024 से पहले राममंदिर जरूर बनवा देंगे। अगर इसके लिए सुप्रीम कोर्ट से भी कोई दिशा-निर्देश लेना पड़ा तो ये लोग ले लेंगे।

संजय राउत ने अयोद्धा में कहा, हम मंत्री पद या लोकसभा डेप्युटी स्पीकर पद के लिए यहां दबाव बनाने नहीं पहुंचे हैं। हम राम मंदिर बनाने का संकल्प लेकर पहुंचे है। शिवसेना में उपमुख्यमंत्री पद के लिये कोई गुटबाज़ी नहीं है। उन्होंने महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री पद को लेकर कहा कि जब पार्टी प्रमुख शिवसेना का मुख्यमंत्री बनाने की बात करते है तो उपमुख्यमंत्री पद के लिए विवाद, गुटबाज़ी या उसे स्वीकारने का कोई सवाल ही नहीं आता। महाराष्ट्र में शिवसेना का मुख्यमंत्री होगा। आपको बता दें कि महाराष्ट्र में बीजेपी और शिवसेना का गठबंधन है और फिलहाल बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस मुख्यमंत्री हैं। आदित्य ठाकरे मुख्यमंत्री बनेंगे या नहीं इस पर बोलते हुए उन्होंने कहा, 'आदित्य ठाकरे मुख्यमंत्री बने ये बयान सबसे पहले मैंने दिया था। उनमें राज्य का नेतृत्व करने की क्षमता है।''भारत पाकिस्तान मैच को लेकर राउत ने कहा, '' पाकिस्तान के साथ मैच खेलना चाहिये या नहीं ये सरकार को निर्णय लेना चाहिए। हमारी भावना जो पहले थी वो आज भी है कि आत़ंकवाद और क्रिकेट एक साथ नहीं हो सकते।

Images Courtesy:Google