इंग्लैंड का ये खिलाड़ी बना विलेन, ये दर्द हमेशा रहेगा याद

नई दिल्ली(4 अप्रैल): टी-20 विश्व कप में वेस्टइंडीज ने इंग्लैंड को हराकर इतिहास रच दिया। कोलकाता में खेला गया ये मैच बेहद रोमांचक था। वेस्टइंडीज की पारी के 19वें ओवर तक किसी को नहीं पता था कि मैच का नतीजा क्या होगा। अखिरी ओवर में इंडीज टीम को जीत के लिए 19 रन चाहिए थे। इंडीज पारी का 20वां ओवर एक खिलाड़ी को तो हीरो बना दिया जबकि एक खिलाड़ी को विलेन भी बना दिया। जो खिलाड़ी विलेन बना शायद अब वो पूरी जिंदगी उन क्षणों को नहीं भूल पाएगा।

हम बात कर रहे हैं इंग्लैंड के धुआंधार ऑलराउंडर बेन स्टोक्स की। फाइनल मैच के अंतिम ओवर में वेस्टइंडीज को जीत के लिए 19 रन चाहिए थे। इंग्लिश कप्तान मॉर्गन ने अपना भरोसा स्टोक्स पर जताया और उन्हें गेंद थमा दी। 

सामने थे कार्लोस ब्रेथवेट जो कि कुछ ही समय पहले पिच पर आए थे। इंग्लैंड को उम्मीद थी कि वो मैच आसानी से मुट्ठी में कर लेंगे क्योंकि सैमुअल्स स्ट्राइक पर नहीं थे। ब्रेथवेट ने लगातार चार छक्के जड़कर दो गेंद शेष रहते ही अपनी टीम को जीत दिला दी। सिर पर हाथ रखने के अलावा स्टोक्स के पास और कोई चारा नहीं बचा। ब्रेथवेट ने 10 गेंदों पर नाबाद 34 रनों की पारी खेलकर वो कर दिखाया जिसकी उम्मीद किसी को नहीं थी।

स्टोक्स ने 2.4 ओवर की अपनी गेंदबाजी में बिना कोई सफलता 41 रन लुटा डाले और अब सालों तक इंग्लैंड के फैंस शायद उनको इस ओवर के लिए माफ न कर पाएं।