सचिन को गुस्सा करते देखा लेकिन धोनी को नहीं : रवि शास्त्री

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (18 जनवरी): भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच आज मेलबर्न के ऐतिहासिक एमसीजी ग्राउंड पर तीन मैचों की वनडे सीरीज पर भारत ने कब्जा जमा लिया है। मेलबर्न वनडे में ऑस्ट्रेलिया को 7 विकेट से मात देकर भारत ने ऑस्ट्रेलिया की धरती पर पहली बार कोई बाइलैटरल (द्विपक्षीय) वनडे सीरीज जीतने का विराट कारनामा किया है। इस मुकाबले में 6 विकेट लेने वाले चहल मैन ऑफ द मैच बनें वहीं सीरीज के तीनों मुकाबलों में अर्धशतक जड़ने वाले धोनी मैन ऑफ द सीरीज़ रहे।

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ धमाकेदार प्रदर्शन करने के बाद टीम इंडिया के कोच रवि शास्त्री ने एमएस धोनी की जमकर तारीफ की है। शास्त्री ने कहा है कि सचिन तेंदुलकर को कई बार नाराज होते देखा है लेकिन महेंद्र सिंह धोनी को कभी नहीं। कोच शास्त्री के मुताबिक ऐसा खिलाड़ी 40 साल में एक बार आता है और उसकी जगह लेना किसी के लिए मुमकिन नहीं है।

37 साल के धौनी ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले वनडे में 96 गेंद में 51 रन बनाए जबकि अगले दो वनडे में 55 और 87 रन की यादगार पारियां खेली। शास्त्री ने डेली टेलीग्राफ से कहा कि वो दिग्गज हैं, वो हमारे महान क्रिकेटरों में से एक है। मैने किसी इंसान को इतना शांत नहीं देखा। मैंने कई बार सचिन को नाराज होते देखा है लेकिन इसे नहीं।

रवि शास्त्री के मुताबिक धौनी की जगह कोई नहीं ले सकता। उन्होंने कहा कि ऐसे खिलाड़ी 30 या 40 साल में एक बार आते हैं। मैं भारतीयों से यही कहता हूं। जब तक वो खेल रहा है, उसका मजा लो। वह संन्यास ले लेगा तो ऐसा खालीपन पैदा होगा जिसे भरना मुश्किल होगा। उन्होंने उम्मीद जताई कि रिषभ पंत अपेक्षाओं पर खरे उतर सकेंगे लेकिन यह भी कहा कि धौनी की बात ही अलग है। इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वान ने पूछा कि क्या पंत अगले 20 साल में धौनी बन सकते हैं, शास्त्री ने कहा कि मैं चाहूंगा, उसके पास प्रतिभा है। एमएस उसका हीरो है।