7 गुणा बढ़ाई वीजा फीस, सऊदी अरब का सपना खत्म!

रियाद (20 अक्टूबर): सऊदी अरब में व्यापार के लिए जाने वाले लोगों की वीजा फीस में 7 गुणा बढ़ोतरी की है, जिसके बाद यहां पर होने वाले विदेशी निवेश पर खतरा मंडराने लगा है। अभी तक व्यापार वीजा पर सऊदी अरब 400 रियाद वसूल करता था, लेकिन अब उसने इसे बढ़ाकर 3,000 कर दिया है।

हालांकि एक वरिष्ठ सऊदी व्यापारी ने इन चिंताओं को सिरे से खारिज कर दिया और कहा कि उनका देश जिन बिज़नेस पार्टनरों के साथ काम करने का सबसे ज़्यादा इच्छुक है, वे आसानी से इस नई फीस को बर्दाश्त कर सकते हैं।

रियाद में मौजूद एक राजनयिक ने नाम न छापने की शर्त पर कहा, "उनकी हालत बहुत ज़्यादा खराब है और वे जितना हो सके, उसकी कीमत विदेशियों से वसूल करना चाहते हैं। लेकिन उन्हें वीज भुगतान से जितना फायदा होगा, उससे कहीं ज़्यादा वह नुकसान में रहेंगे।"

असल में सऊर अरब ने तेल से आने वाले राजस्व में हुई भारी कमी से निपटने के लिए बढ़ी हुई वीजा फीस बढ़ाने का फैसला किया है। ब्लूमबर्ग न्यूज़ ने आधिकारिक आंकड़ों के हवाले से बताया है कि पिछले पांच सालों में सऊदी अरब के तेल राजस्व में 68 फीसदी की कमी आई है।

हालांकि वीजा फीस में किया गया यह बदलाव यूरोपीय यूनियन और अमेरिका पर लागू नहीं होगा, जबकि ब्रिटिश नागरिकों के लिए वीजा फीस में मामूली बढ़ोतरी की गई है। ज़्यादातर अन्य देशों को कहीं ज़्यादा फीस चुकानी होगी, लेकिन अब वह एक और दो साल के लिए भी वीजा का आवेदन कर सकेंगे, जिनके लिए उन्हें क्रमशः 5,000 और 8,000 रियाल चुकाने होंगे।