दिवाली पर पटाखों पर ऐसे मिलेगा 50 से 70 फीसदी डिस्काउंट

नई दिल्ली (25 अक्टूबर): सरकार के मना करने के बाद भी लोग दिवाली पर जमकर पटाखे छोड़ते हैं, लेकिन हमारी खबर आपको यह बताएगी कि किस तरह से डिस्काउंट के नाम पर दुकानदार आपको ठगते हैं। दुकानदार यदि पटाखों पर 20 प्रतिशत डिस्काउंट दे रहा है तो खुश होने की जरूरत नहीं है, क्योंकि आप ठगे गए हैं।

यह डिस्काउंट MRP पर 50 से 70 प्रतिशत होता है। क्योंकि पटाखों की पैकिंग पर मूल दाम से कई गुना अधिक MRP प्रिंट रहती है। कई ब्रांडेड कंपनियां भी ऐसे ही डिस्काउंट देती हैं। सस्ते पटाखे खरीदने के लिए जरूरत है जमकर मोलभाव करने की।

ऐसे मिलता है डिस्काउंट.... - इस साल चाइनीज पटाखे तो बाजार से गायब हैं और देश में ही बने पटाखे बाजारों में आए हैं। इसमें से 90 फीसदी पटाखे तमिलनाडु के शिवकाशी से आते हैं। - शिवकाशी से जो भी पटाखे आते हैं, उन पर MRP बढ़ा-चढ़ाकर लिखी होती है। मसलन किसी क्रैकर्स के पैकेट पर 500 रुपए एमआरपी है तो उस पर 70 प्रतिशत डिस्काउंट कर बेचा जाता है। - इस प्रकार 500 रुपए के पटाखे की कीमत मात्र 150 रुपए होती है और इस पर भी दुकानदार मुनाफा 40 फीसदी कमाता है।

अलग-अलग रेट पर मिलते हैं पटाखे - पटाखों के रेट मार्केट के हिसाब से तय होते हैं। इस बात की संभावना है कि अलग-अलग शहरों में पटाखों के रेट में अंतर मिले। - एमपी में पटाखों पर वैट MRP पर नहीं, बल्कि बेचे गए दामों पर लगता है। - इसी कारण पटाखों के दामों पर नियंत्रण नहीं है और इसीलिए MRP ज्यादा रखी जाती है, जिससे दीपावली आते-आते ज्यादा दामों पर पटाखे बेचे जा सकें।