'...तो C+, Java, SOL, Python को घोषित कर दें राष्ट्रविरोधी'

नई दिल्ली (26 अप्रैल): केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री स्‍मृति ईरानी एक बार फिर विपक्ष के निशाने पर हैं। आईआईटी में संस्कृत पढ़ाने की अपील करने के बाद विपक्षी पार्टियां एक एक कर उन्हें घेरने की कोशिश कर रही हैं। इस सिलसिले में एक नाम है आम आदमी पार्टी के नेता मनीष सिसोदिया का। 

दिल्‍ली के उपमुख्‍यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ट्वीट कर कहा, "हर किसी को समझ लेना चाहिए कि संस्कृत ही एकमात्र ऐसी भाषा है जो C++, जावा, एसओएल, पाइथन, जाना स्क्रिप्ट का मुकाबला कर सकती है।" इसके बाद उन्‍होंने एक और ट्वीट किया जिसमें उन्होंने कहा, "देश में जितने भी कम्‍प्‍यूटर C++, जावा, एसओएल, पाइथन का इस्तेमाल कर रहे हैं, उन्हें राष्ट्रविरोधी घोषित कर देना चाहिए, जब आईटी छात्र संस्कृत सीख जाएं।"

मीडिया में बीते दिन आई रिपोर्ट्स के मुताबिक, मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने सोमवार को संसद में दिए जवाब में बताया, "पूर्व मुख्य निर्वाचन आयुक्त एन गोपालास्वामी की अध्यक्षता में गठित समिति ने आईआईटी में संस्कृत की पढ़ाई कराने की सिफारिश की थी। सरकार को सौंपी रिपोर्ट में समिति की ओर से कहा गया था कि संस्कृत साहित्य में बताए गए वैज्ञानिक और तकनीकी तथ्यों का गहराई से विश्लेषण किया जाना चाहिए।"