मोदी सरकार में 'गौमूत्र' बना 'हॉट' प्रोडक्ट

नई दिल्ली (19 जुलाई): भारत में देशी नस्ल की बोस इंडिकस गायों का मूत्र एक हॉट प्रोडक्ट बन चुका है। यह गाय हिंदुओं में "पवित्र" मानी जाती है।

- पीएम नरेंद्र मोदी के प्रयासों से ऐसा सम्भव हुआ। जिन्होंने कई ऐसे कार्यक्रम शुरू किए।  - कार्यक्रमों में दूध देने वाले जानवरों की रक्षा के लिए पिछसे दो सालों में कई प्रोग्राम शामिल। - जानवरों के वेस्ट मटीरियल से तैयार प्रोडक्ट्स के उद्योंगों को भी बढ़ावा दिया। - सरकार ने गौशालाओं, बीफ-ईटिंग पर प्रतिबंध और बांग्लादेश के लिए जानवरों की बिक्री पर नियंत्रण के लिए कदम उठाए। जिसके लिए 5.8 अरब रुपए खर्च किए गए। - गौ-विज्ञान अनुसंधान केद्र के चीफ कोऑर्डिनेटर सुनील मनसिंहका ने कहा, "गौमूत्र से करीब 30 तरह की औषधियां घर पर तैयार की जा सकती हैं।" - जैन्स गौमूत्र थेरेपी क्लीनिक एक महीने में दर्जनों गौशालाओं से 6,600 गैलन्स गौमूत्र खरीदता है।  - पतंजलि के बालकृष्ण के मुताबिक, गौमूत्र डिस्टिलेट 80-100 रुपए प्रति लीटर बिकता है।