छपरा मिड-डे मील केस: दोषी प्रिंसिपल मीना देवी को 10 साल की सजा

छपरा (29 अगस्त): बिहार के छपरा में मिड-डे मील केस में दोषी पाई गई महिला प्रिंसिपल मीना देवी को कोर्ट ने सुनाई 10 साल की सजा सुनाई है। स्कूल में मिड-डे मील खाने के बाद 23 बच्चों की मौत हो गई थी।

इससे पहले 24 अगस्त को छपरा कोर्ट ने मामले की सुनवाई के बाद स्कूल की तत्कालीन प्रिंसिंपल मीना देवी को दोषी करार दिया था। छपरा में एडीजे 2 के कोर्ट ने मुख्य आरोपी मीना देवी को 304 और 308 दफा के तहत दोषी करार दिया था, जबकि उसके पति अर्जुन राय को कोर्ट ने साक्ष्य के आभाव में बरी कर दिया था।

आपको बता दें कि बिहार के सारण जिले के मशरक प्रखंड के धर्मासती गंडामन स्कूल में 16 जुलाई 2013 को मिड डे मील खाने से 23 बच्चों की मौत हो गई थी। मामले में कुल 65 गवाह थे। इनमें 40 की गवाही हो गई है। गवाही के तहत दो रसोईया, 22 ग्रामीण, 9 डॉक्टर व एसआईटी के 7 अफसरों के अलावा अन्य की गवाही हुई थी।