कोर्ट ने चार साल के बच्चे को सुनायी इतनी बड़ी सज़ा

नई दिल्ली (21 फरवरी): क्या अप विश्वास कर सकते हैं कि डेढ़ साल का बच्चा किसी हत्या काण्ड में शामिल हो सकता है... आप विश्वास करें या न करें, मिस्र की अदालत ने तो ये मान ही लिया और उसे उम्रकैद की सजा भी सुनाई दी है। मीडिया रिपोर्ट्सके अनुसार यह बच्चा कथित तौर पर उन 115 आरोपियों की सूची में शामिल था जिन्हें काहिरा के दक्षिण में हुए हत्याकाण्ड के लिए दोषी ठहराया गया था। इस बच्चे का नाम महमूद है। इस समय उसकी उम्र लगभग चार साल है।

इस मुकदमे की पैरवी कर रहे वकीलों के मुताबिक अहमद का नाम दोषियों की  सूची में गलती से शामिल हो  गया था लेकिन कोर्ट ने उसकी उम्र साबित करने वाले दस्तावेजों को स्वीकार करने से इनकार कर दिया। मकदमें के एक वकील फैसल अल-सैयद ने कहा कि उन्होंने कोर्ट में अहमद का जन्म प्रमाण पत्र पेश किया जो कथित तौर पर जज ट्रांसफर करने में विफल रहे। बच्चे को पश्चिमी काहिरा के सैन्य कोर्ट ने चार हत्याओं, आठ हत्या के प्रयास, संपत्ती के तोडफ़ोड़, शांति भंग करने, सैनिकों और पुलिस अफसर को धमकाने का दोषी पाया गया था। वकील कहते हैं राज्य के सुरक्षा बलों द्वारा आरोपियों की सूची में नाम जोडऩे के बाद इस बच्चे का जन्म प्रमाण पत्र पेश किया गया, लेकिन केस सैन्य अदालत में स्थानांतरित हो गया और बच्चे को  अदालत में अनुपस्थित रहने पर सजा सुनाई गई थी।