अमेरिका नहीं इस देश के पास है सबसे ज्यादा परमाणु हथियार, मचा सकता है दुनिया में तबाही

नई दिल्ली (1 जनवरी): परमाणु हथियार को विश्व का सबसे खतरनाक हथियार माना जाता है। पल भर में इसके प्रयोग से दुनिया में तबाई मचाई जा सकती है। इसका पहली बार प्रयोग अमेरिका ने जापान के नागासाकी और हीरोशिमा के खिलाफ किया था। इसके बाद इसका कभी उपयोग नहीं किया गया। इस बीच इस पर रोक लगाने की बात विश्व स्तर पर होती रही है। बता दें कि दुनियाभर में 9 देशों के पास यह न्यूक्लियर पावर हैं। ये इतने हैं कि पूरी दुनिया को तबाह किया जा सकता है।

सबसे ज्यादा एक्टिव परमाणु हथियार अमेरिका के पास > अनुमान के मुताबिक अमेरिका के पास 7700 परमाणु हथियार अमेरिका के पास हैं। इनमें से 2150 हथियार एक्टिव हैं। हालांकि, अब सीटीबीटी (व्यापक परमाणु परीक्षण प्रतिबंध संधि) पर हस्ताक्षर कर चुका है। > रूस के पास कुल 8500 परमाणु हथियार मौजूद हैं, जो कि अमेरिका से भी ज्यादा हैं। हालांकि, एक्टिव परमाणु हथियार के मामले में रूस अभी अमेरिका से पीछे है। इसके पास 1740 एक्टिव परमाणु हथियार मौजूद हैं। > यूके के पास कुल 225 न्यूक्लियर बम हैं, जिनमें से 160 सक्रिय हैं। पहली बार रूस ने 1952 में इसका प्रयोग किया था। यूके भी सीटीबीटी पर सिग्नेचर करने को तैयार हो गया है। > फ्रांस के पास 300 न्यूक्लियर हथियार हैं, जिनमें से 290 सक्रिय हैं। फ्रांस भी सीटीबीटी पर सिग्नेचर करने को तैयार हो गया है। > चीन के पास अभी 240 परमाणु हथियार हैं, हालांकि इनमें से कोई भी एक्टिव नहीं है। अमेरिका के बाद चीन दूसरा ऐसा देश है, जिसने सीटीबीटी पर सिग्नेचर किया है।     > भारत ने पहली बार 1974 में परमाणु हथियारों का परीक्षण किया था। इसके पास 80 से 100 की संख्या में परमाणु हथियार हैं। हालांकि, इनमें कोई भी एक्टिव नहीं है। भारत ने सीटीबीटी पर साइन नहीं किया है। > 1988 में परमाणु हथियारों का प्रयोग करने वाले पाकिस्तान के पास कुल 90 से 110 की संख्या में परमाणु हथियार मौजूद हैं। पाकिस्तान ने भी सीटीबीटी पर साइन नहीं किया है।