उद्धव ने 'सिंचाई घोटाले' से भी बड़े घोटाले का फडणवीस सरकार पर लगाया आरोप

विनोद जगदाले, मुंबई ( 17 मई ): महाराष्ट्र में भाजपा और शिवसेना के बीच नये सिरे से खुलकर सियासी जंग छिड गयी है। शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने सूबे की देवेंद्र फडणनवीस सरकार के राज में सिंचाई घोटाले के फलने फूलने का आरोप लगाकर सियासी तूफान खड़ा कर दिया है। उद्धव ठाकरे के मुताबिक फडणनवीस सरकार में पिछली कांग्रेस और एनसीपी सरकार के सरकार के दौरान हुए सत्तर हजार करोड के सिंचाई घोटाले से भी ज्यादा बड़ा घोटाला सूबे की नई सिंचाई परियोजना में हुआ है।

 उद्धव ने इस कथित घोटाले को उछालकर फडणनवीस सरकार की फ्लैगशिप सिंचाई योजना को कटघरे में खड़ा कर दिया है। राज्य सरकार ने उद्धव ठाकरे के आरोपों के बाद जांच के आदेश दे दिये हैं।

शिवसेना ने भाजपा सरकार में सिंचाई महकमें में बड़े घोटाले का आरोप लगाकर सियासी बवंडर खड़ा कर दिया है। दरअसल महाराष्ट्र में पिछली कांग्रेस और एनसीपी सरकार में सत्तर हजार करोड रुपये के सिंचाई घोटाले का खुलासा होने के बाद भाजपा ने एनसीपी के सूबे के बड़े नेताओं पर निशाना साधा था। अब शिवसेना ने फडणनवीस सरकार में सिंचाई घोटाले के फलनेफूलने का आरोप लगाकर नया सियासी पैतरा चला है। इसके बाद भाजपा और शिवसेना के बीच सियासी तकरार छिड़ गई है।

दरअसल उद्धव ठाकरे ने महाराष्ट्र के पर्यावरण मंत्री रामदास कदम के उठाये उस सवाल को और धार दी है जिसमें कदम ने सूबे के रत्नागिरी में रत्नागिरी के दापोली, खेड़ और मंडणगढ़ में जलयुक्त शिवार योजना के कई काम सिर्फ कागज पर हुए। फडणनवीस सरकार अपनी सफाई में कह रही है कि जलयुक्त शिवार सिंचाई परियोजना सफल रही है और इसमें बेहद पारदर्शिता सरकार बरत रही है।