देश के 13 राज्यों में 25,000 से 28,000 करोड़ तक की रिश्वतखोरी

नई दिल्ली (22 मई): देश में लगातार रिश्वत खोरी का आलम बड़ता जा रहा है। रिश्वत और करप्शन को लेकर हाल ही में जारी एक रिपोर्ट ने चौकाने वाला खुलासा किया है। आपको बता दें कि पंजाब समेत देश के 13 राज्यों में लोगों को 10 प्रमुख विभागों में सालाना तकरीबन 25,000 करोड़ से 28,000 करोड़ रुपए तक रिश्वत देनी पड़ रही है।सीएमएस इंडिया की 2018 की स्टडी रिपोर्ट में ये दावा किया गया है। 2005 में भी करप्शन पर रिपोर्ट बनाई गई थी। उस वक्त ये माना जा रहा था कि लोगों को सालाना 25 सौ से तीन हजार करोड़ रुपए साल भर में रिश्वत देनी पड़ती है। वहीं सीएमएस की टीमों ने उन 10 विभागों में रिश्वतखोरी के बारे में लोगों से बात की, जहां सबसे अधिक पब्लिक इंटरएक्शन होती है। इनमें पुलिस, सेहत, पीडीएस, ट्रांसपोर्ट, हाउसिंग जैसे विभाग शामिल हैं। सभी 13 राज्यों में 100 में से 39 लोगों ने कहा कि पुलिस विभाग में सबसे अधिक करप्शन है। गौरतलब है कि एक तरफ सरकार देश को भ्रष्टाचार मुक्त बनाने की बात कर रही है तो दूसरी तरफ आलम ये है कि रिश्वत खोरी और भ्रष्टाचार का सिलसिला बड़ता ही जा रहा है।