बुनियादी उद्योगों की वृद्धि दर का चिंता जनक स्तर, घट कर 2.4% पहुंचा

नई दिल्ली (1सितंबर): भारत के बुनियादी उद्योगों की वृद्धि दर घट कर 2.4 प्रतिशत पर आ गय़ी है। मुख्य रुप से कच्चे तेल, रिफाइनरी उत्पादों, उर्वरक और सीमेंट उत्पादन में गिरावट से बुनियादी उद्योगों की वृद्धि दर घटी है। नई अप्रत्यक्ष कर व्यवस्था जीएसटी को लेकर अनिश्चितता की वजह से कार, एफएमसीजी और परिधान कंपनियों का ध्यान अपना स्टॉक निकालने पर था। पिछले साल नवंबर में नोटबंदी से जनवरी मार्च तिमाही में आर्थिक गतिविधियां प्रभावित हुईं और जीडीपी की वृद्धि दर घटकर 6.1 प्रतिशत पर आ गई। जून तिमाही में यह और घटकर 5.7 प्रतिशत पर रह गई। मुख्य सांख्यिकीविद टीसीए अनंत ने जीएसटी से पहले स्टॉक घटने को जीडीपी वृद्धि दर में गिरावट की प्रमुख वजह बताया है।