कौन काट रहा है महिलाओं की चोटी, हुआ खुलासा



अहमदाबाद (14 अगस्त): देश के कई राज्यों में महिलाओं के चोटी काटने की खबर लगातार सामने आ रही है। ऐसे ही पांच मामलों का गुजरात पुलिस ने पर्दाफाश किया है। इनमें राजकोट और सूरत से दो-दो और गांधीनगर से एक मामला दर्ज हुआ था।

राजकोट पुलिस ने भी एक एनजीओ विज्ञीन जथा के साथ मिलकर जांच की तो शिकायत करने वालों ने खुद चोटी काटने की बात स्वीकार की और माना कि उन्होंने झूठी कहानी गढ़ी थी। राजकोट के अम्बेडकर नगर में रहने वाली सोनल कुशवाहा ने पहले पुलिस को बताया था कि वह अपने कमरे में सो रही थी, तब कोई उसकी चोटी काट गया। बाद में जब राजकोट सिटी पुलिस, विज्ञान जथा एनजीओ के सदस्यों के साथ इस घटना की जांच करने के लिए पहुंची तो सोनल बेहोश हो गई और स्थानीय लोगों ने पुलिस से जाने को कहा। जब पुलिस ने उससे बात किए बिना जाने से इनकार कर दिया, तब सोनल के भाई-बहन ने कबूल किया कि उन्होंने सोनल की चोटी काटी थी और वह भी योजना का हिस्सा थी।

राजकोट के ही एक दूसरे मामले में इंदूबेन की चोटी उनकी बहू दिव्याबेन ने तब काट दी थी, जब वह सो रही थीं। पहले दिव्याबेन ने कहा कि आधी रात को घर में घुसे किसी भिखारी ने चोटी काटी है, लेकिन सख्ती से पूछताछ करने पर उन्होंने अपनी गलती मान ली और सच बोल दिया। गुरुवार को सूरत में दर्ज एक मामले में शिकायत करने वाली रेनू चौहान ने कहा था कि किसी ने सोते वक्त उसके बाल काट दिए। बाद में पता चला यह उसकी ही करतूत थी। इसी तरह गांधीनगर के मंसा में दर्ज शिकायत की जांच में सामने आया कि जमीन पर मिले कटे बाल शिकायतकर्ता के थे ही नहीं।