PHOTOS: अकेला ऐसा गांव, जहां जमीन के अंदर रहते हैं गांव के सभी लोग

नई दिल्ली (30 मई): आपने बेसमेंट यानी अंडरग्राउंड घरों के बारे में सुना और देखा होगा। लेकिन क्या आपको अंडरग्राउंड गांव के बारे में पता है। जी हां, चौकिए मत, दुनिया में एक गांव ऐसा भी है जिसके सारे लोग जमीन के नीचे रहते हैं।

यह गांव दक्षिण ऑस्ट्रिलिया में है। इसका नाम है 'कूबर पेडी'। इस गांव के लोगों ने यहां के ओपल की खदानों में घर बनाए हुए हैं। ये घर सामने से मिट्टी के घर जैसे दिखते हैं लेकिन अंदर से इनकी बनावट और सजावट किसी महल से कम नहीं हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक यहां के 60 फीसदी लोग अंडरग्राउंड घरों में रहते हैं।

क्या होता है ओपल  ऑस्ट्रेलिया के इस गांव में सबसे ज्यादा ओपल के माइंस हैं। यही कारण है कि इस गांव को ‘Opal capital of the world’ कहा जाता है। ओपल एक दूधिया रंग का कीमती स्टोन होता है। दरअसल, कूबर पेडी एक डेज़र्ट एरिया है इसलिए यहां पर गर्मियों में तापमान बहुत ज्यादा और सर्दियों में बहुत कम हो जाता है। बता दें कि 1915 में यहां पर माइनिंग का काम शुरू हुआ था। इसके कारण यहां के लोगों को रहने में बहुत तकलीफों का सामना करना पड़ता था। इसके बाद लोगों ने माइनिंग खत्म होने के बाद यहां के माइंस में ही शरण ले लिया। 

माइंस के अंदर बने घरों की सजावट मन को मोह लेती है। इसकी बनावट ऐसी है कि यहां न तो गर्मियो में A.C. की जरूरत पड़ती है और न ही सर्दियों में हीटर की। यहां कई हॉलीवुड फिल्मों की शूटिंग होती रहती है। पिच ब्लैक फिल्म की शूटिंग के बाद प्रोडक्शन ने फिल्म का स्पेसशिप यहीं छोड़ दिया था। अब यह पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र बन चुका है।