800 लोगों का धर्मपरिवर्तन कराने को लेकर जाकिर नाईक पर बड़ा खुलासा

नई दिल्ली (26 जुलाई): मुंबई पुलिस की स्पेशल ब्रांच ने दावा किया है कि विवादित इस्लामिक स्कॉलर जाकिर नाइक की संस्था बड़े पैमाने पर धर्म परिवर्तन के काम में जुटी थी। 

जाकिर नाईक की संस्था इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन ने गैरकानूनी रुप से करीब 800 लोगों का धर्म परिवर्तन कराया था। खबरों के मुताबिक लोगों को धर्म परिवर्तन करने के लिए पैसे दिए गए थे। आरोप लग रहे हैं कि विदेशों से मिले पैसे का काम धर्म परिवर्तन के लिए किया गया था। 

बताया जा रहा है कि पुलिस को ये जानकारी जाकिर नाईक की संस्था इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन के कर्मचारी रह चुके आर्शी कुरैशी से पूछताछ में सामने आई है। पुलिस ने इस मामले में रिजवान खान नाम के एक और शख्स को भी गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि इसने पुलिस को कई अहम जानकारियां दी हैं। 

बताया जा रहा है कि रिजवान खान ही वो शख्स है जो धर्म परिवर्तन के काम से जुड़ा था। अगर ये आरोप साबित हो गए तो जाकिर नाइक की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। क्योंकि पहले ही पुलिस जाकिर नाइक के भाषणों की जांच कर रही है।