अब आंखों के इशारों से चलेगा यह फोन

नई दिल्ली (4 जुलाई): वह दिन ज्यादा दूर नहीं जब स्मार्टफोन आपकी उंगलियों के नहीं बल्कि आपकी आंखों के इशारे पर काम करेगा। अमेरिका के मैसाच्युसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (एमआईटी), यूनिवर्सिटी ऑफ जॉर्जिया और जर्मनी के मैक्स प्लैंक इंस्टीट्यूट फॉर इंफॉर्मैटिक्स का एक दल इसमें जुटा हुआ है।

इस दल ने अब तक सॉफ्टवेयर को इतना प्रशिक्षित करने में सफलता प्राप्त कर ली है कि पता चल सके कि आपकी आंखें कहां देख रही हैं। शोध में शामिल एमआईटी के छात्र आदित्य खोसला के मुताबिक इस सिस्टम की एक्युरेसी और ज्यादा बढ़ जाएगी।

शोधकर्ताओं ने 'गेजकैप्चर' एप बनाया और इससे यह डाटा जमा किया कि लोग अलग-अलग स्थानों पर अपने मोबाइल में कहां देखते हैं।