Blog single photo

यहां मैगी के खाली पैकेट देकर पाएं फ्री में नया पैकट

आज तक आपने 2 मिनट में बनने वाली मैगी के कई आॅफर्स के बारे में तो सुना होगा लेकिन आज हम आपको ऐसे आॅफर के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे जानकर आप भी हैरान हो जाएंगे। जी हां, बता दें कि देश में बड़ते प्रदूषण के चलते इस मामले में देश की सबसे बड़ी फूड कंपनी नेस्ले इंडिया ने अनोखी पहल की है। प्लास्टिक का कचरा कम हो इसके लिए कंपनी ने मैगी रिटर्न प्रोग्राम शुरू किया है।

                                                                                                         Image Source: Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (15 नवंबर): आज तक आपने 2 मिनट में बनने वाली मैगी के कई आॅफर्स के बारे में तो सुना होगा लेकिन आज हम आपको ऐसे आॅफर के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे जानकर आप भी हैरान हो जाएंगे। जी हां, बता दें कि देश में बड़ते प्रदूषण के चलते इस मामले में देश की सबसे बड़ी फूड कंपनी नेस्ले इंडिया ने अनोखी पहल की है। प्लास्टिक का कचरा कम हो इसके लिए कंपनी ने मैगी रिटर्न प्रोग्राम शुरू किया है।मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ग्राहक मैगी नूडल्स के दस खाली पैकेट के बदले में एक फ्रेश मैगी नूडल्स का पैकेट पा सकते हैं। कंपनी ने पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर अभी यह प्रोग्राम उत्तराखंड में दो जगहों पर शुरू किया है, जिसे जल्द ही अन्य राज्यों में लागू किया जा सकता है।इतना ही नहीं आपको बता दें कि देहरादून और मसूरी में कंपनी के करीब 250 रिलेटर्स हैं। यहां पायलट प्रोजेक्ट के तहत कंपनी ग्राहकों को लाभ पहुंचाने के अलावा प्लास्टिक वेस्ट को दोबारा कैसे काम लाया जा सके, इसपर भी ध्यान दे रही है। मामले में नेस्ले इंडिया के एक प्रवक्ता ने बताया कि मैगी, पेप्सिको के लेस चिप्स, पारले की फ्रूटी जैसे कुछ टॉप ब्रांड हैं जिनके उत्पादों से प्लास्टिक प्रदूषण फैलता है। इसकी वजह यह है कि इनके खाली पैक का निपटान नहीं हो पाता। ऐसा खासतौर पर उत्तराखंड में सबसे ज्यादा विजिट किए जाने वाले हिल स्टेशनों में होता है।

Tags :

NEXT STORY
Top