भाजपा के खिलाफ लड़ाई में शरद को लालू का निमंत्रण, कांग्रेस ने किया स्वागत

नई दिल्ली ( 31 जुलाई ): बिहार में महागठबंधन टूटने से नाराज जेडीयू के पूर्व अध्यक्ष और पार्टी सांसद शरद यादव पहली बार मीडिया के सामने आए। शरद यादव ने कहा कि बिहार जनता ने हमें बीजेपी के साथ आने के लिए जनादेश नहीं दिया था। उन्होंने कहा कि गठबंधन टूटने का उन्हें अफसोस है। बिहार में लालू यादव की आरजेडी का साथ छोड़ नीतीश कुमार ने बीजेपी के साथ सरकार बना ली है जिसके बाद से पार्टी के वरिष्ठ नेता शरद यादव नाराज बताए जा रहे हैं।

तो वहीं आरजेडी सुप्रीमों लालू यादव ने शरद यादव को भाजपा के खिलाफ लड़ाई में साथ आने की अपील की है। कांग्रेस ने लालू के इस बयान का स्वागत किया है। कांग्रेस नेता संदीप दीक्षित ने कहा कि अगर लालू सांप्रदायिक मानसिकता और विभाजनकारी राजनीति करने वाली बीजेपी के खिलाफ अलग-अलग ताकतों को एकजूट करने की योजना बना रहे हैं, तो हम उसका स्वागत करते हैं। 

लालू यादव ने कहा कि हमने और शरद यादव जी ने साथ लाठी खाई है, संघर्ष किया है। आज देश को फिर संघर्ष की जरूरत है। शोषित और उत्पीडित वर्गों के लिए हमें लड़ना होगा।

उन्होंने गरीब, वंचित और किसान को संकट/आपदा से निकालने के लिये हम नया आंदोलन खड़ा करेंगे। लालू ने ट्वीट कर कहा कि शरद भाई, आइये सभी मिलकर दक्षिणपंथी तानाशाही को नेस्तनाबूद करें।