जम्मू-कश्मीर को US ने बताया भारत प्रशासित, कांग्रेस का पीएम मोदी पर हमला

नई दिल्ली ( 28 जून ): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अमेरिका दौरे के वक्त अमेरिका ने जम्मू-कश्मीर को भारत प्रशासित बताया था, जिस पर कांग्रेस पार्टी ने सरकार से जवाब मांगा है। पीएम नरेंद्र मोदी की अमेरिकी दौरे के दौरान जम्मू-कश्मीर के आतंकवादी सैयद सलाउद्दीन को ग्लोबल टेररिस्ट घोषित किया गया।

अमेरिका का यह बयान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से हुई पहली बैठक से पहले आया था। अमेरिका के इस कदम की भारत सरकार की ओर से काफी सराहना की गई थी, लेकिन अब बयान में कश्मीर को भारत प्रशासित बताने को लेकर कांग्रेस मोदी सरकार पर हमलावार है।

राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद ने कहा कि अमेरिकी सरकार ने जम्मू-कश्मीर को भारत प्राधिकृत (भारतीय प्रशासन द्वारा नियंत्रित) करार दिया, लेकिन हमारे पीएम इस ऑर्डर को देखते रहे। उन्होंने एक बार भी इसका विरोध या प्रतिरोध करने की जरूरत नहीं समझी।

उन्होंने भारत सरकार की चुप्पी को देश की सुरक्षा और संप्रभुता से समझौता करार दिया। आजाद ने कहा, 'जम्मू-कश्मीर भारत के कब्जे वाला हिस्सा नहीं, बल्कि हमेशा से देश का अभिन्न अंग है और रहेगा। इसके लिए हमने अपना खून पसीना बहाया है। हम किसी मित्र देश को भी इसके बारे में ऐसे सवाल खड़े करने की छूट लेने की इजाजत नहीं दे सकते।'

आजाद ने तंज कसते हुए कहा कि बीजेपी और पीएम मोदी लगातार राष्ट्रीयता और राष्ट्रवाद का दम भरते हैं, लेकिन उन लोगों की यह कैसी छद्म राष्ट्रीयता है कि उन्होंने देश के एक अभिन्न हिस्से के लिए ऐसे संबोधन को स्वीकार कर लिया। कांग्रेस ने इस मुद्दे पर पीएम की चुप्पी के साथ-साथ अपने विदेश मंत्रालय, रक्षा मंत्रालय, गृह मंत्रालय, सूचना प्रसारण मंत्रालय, मंत्रियों और बीजेपी की चुप्पी पर सवाल उठाए।

इतना ही नहीं, कांग्रेस ने इस मुद्दे पर भारतीय मीडिया की चुप्पी को लेकर भी सवाल खड़े किए। उनका कहना था कि इतने बड़े मुद्दे को अपने मीडिया ने जिस तरह से अनेदखा किया, वह भी अपने आप में सवाल खड़े करता है।