GST के विरोध में सड़कों पर उतरेगी दिल्ली कांग्रेस, 18 जुलाई को संसद का घेराव

नई दिल्ली (13 जुलाई): एक जुलाई से देशभर में GST लागू हो चुका है। GST पर कांग्रेस ने मोदी सरकार का साथ दिया लेकिन अब वही इसका विरोध करने के लिए सड़कों पर उतरने जा रही है। दिल्ली कांग्रेस ने GST के विरोध में 18 जुलाई को संसद का घेराव करने का ऐलान किया है।


दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन का कहना है कि हाल ही में सूरत में लाखों लोगों ने GST के विरोध में प्रदर्शन किया इसमें न सिर्फ व्यापारी वर्ग था बल्कि कर्मचारी और आम जनता भी थी। माकन का कहना है कि राहुल गांधी ने भी GST का इसलिए विरोध किया है क्योंकि केंद्र सरकार इसमें 6 स्लैब बनाए हैं और इसमें 40 फीसदी तक टैक्स का प्रवधान है। जबकि कांग्रेस अधिकतम 14 फीसदी की सीमा के साथ GST लगाना चाहती थी।


माकन का कहना है कि GST से दिल्ली के व्यापारी खुद को ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं और अपनी शिकायत दर्ज करवा रहे हैं। केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए अजय माकन ने कहा कि मोदी सरकार ने स्कूटर और मर्सिडीज कार पर एक समान GST लगाया है। उन्होंने सवाल किया कि 28 फीसदी GST मर्सिडीज कार पर लगाती है और उतना ही स्कूटर पर लगाती है आखिर यह कैसे जायज हो सकता है। उन्होंने कहा कि बीजेपी की इन्हीं जन विरोधी नीतियों के कारण 18 जुलाई को दिल्ली के लाखों कार्यकर्ताओं और व्यापारियों के साथ मिलकर संसद का घेराव करेगी।