बीएमसी: शिवसेना को समर्थन देने से कांग्रेस का इंकार

नई दिल्ली ( 26 फरवरी ): बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) चुनाव में किसी को भी बहुमत न मिला है जिसके बाद गठबंधन को लेकर भी कई तरह की बाते सामने आ रही हैं। शनिवार को बीएमसी में शिवसेना के साथ गठबंधन की चल रही संभावना को कांग्रेस ने खारिज कर दिया है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुरुदास कामत के विरोध के बाद अब संजय निरुपम ने भी ऐसी किसी संभावना से साफ इंकार कर दिया है।

पार्टी के मुंबई यूनिट के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे चुके निरुपम ने कहा, 'शिवसेना के कुछ नेताओं ने हमसे संपर्क किया, लेकिन हमने स्पष्ट तौर पर कहा कि हम एक सांप्रदायिक पार्टी से गठबंधन नहीं कर सकते जोकि जाति और धर्म के आधार पर राजनीति करती है।' 

इससे पहले शनिवार को कांग्रेस के पूर्व सांसद और महाराष्ट्र में पार्टी के बड़े नेता गुरुदास कामत ने भी शिवसेना से गठबंधन पर कड़ी आपत्ति जताई। उन्होंने कहा कि यदि शिवसेना को समर्थन दिया तो जनता माफ नहीं करेगी। उन्होंने कहा, 'हम दोनों भगवा दलों की विभाजक राजनीति के खिलाफ लड़े थे।' पूर्व केंद्रीय मंत्री ने यह बात कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी तक पहुंचाने की बात कही। शुक्रवार को महाराष्ट्र कांग्रेस अध्यक्ष अशोक चव्हाण कह चुके हैं कि शिवसेना को बीएमसी में सपोर्ट चाहिए तो उसे राज्य सरकार में बीजेपी का साथ छोड़ना होगा।