2G घोटाले में कोर्ट के फैसले के बाद ये बोले कांग्रेस के दिग्गज नेता

नई दिल्ली(21 दिसंबर): यूपीए-2 के कार्यकाल में हुए सबसे बड़े 2जी स्पेक्ट्रम आवंटन घोटाले पर पटियाला हाउस कोर्ट की स्पेशल सीबीआई अदालत ने सभी आरोपियों को बरी कर दिया है। 

- कोर्ट के इस फैसले के बाद से कांग्रेस पार्टी में जश्न का माहौल है। कांग्रेस सड़क से लेकर सदन तक बीजेपी और तत्कालीन कैग प्रमुख विनोद राय को आड़े हाथों ले रही है।

-  राज्यसभा में भी फैसले के बाद से लगातार कांग्रेस सांसद हंगामा कर रहे हैं। आरोपियों के बरी होने के बाद से डीएमके समर्थकों में खुशी की लहर है।

- फैसला आने के साथ ही डीएमके समर्थकों में खुशी की लहर दौड़ गई। भारी संख्या में तमिलनाडु से दिल्ली पहुंचे डीएमके समर्थकों ने पार्टी प्रमुख करुणानिधि की पुत्री कनिमोझी के समर्थन में नारे लगाए। कनिमोझी ने फैसले के बाद कहा, 'न्या हुआ है और मुझे इसकी खुशी है। मैं अपने समर्थकों और शुभचिंतकों की शुक्रगुजार हूं जो लगातार मेरे साथ खड़े रहे।' 

- पूर्व कैबिनेट मंत्री और कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम ने भी मोदी सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा, 'एक हाई प्रोफाइल 2 लाख करोड़ के घोटाले में सरकार के वरिष्ठ पदों पर बैठे लोगों के शामिल होने की बातें पूरी तरह से निराधार थीं। हम हमेशा यही कहते रहे और मुझे बेहद खुशी है कि आज सत्य की जीत हुई है।'

-  लोकसभा सांसद शशि थरूर ने भी फैसले पर खुशी जताई और कहा कि निर्दोष लोगों को झूठे मुकदमे में फंसाया गया था। देश की न्यायपालिका ने वैसे ही काम किया जैसे उसे करना चाहिए। 

- कांग्रेस की तरफ से वरिष्ठ नेता और वकील कपिल सिब्बल ने विनोद राय पर निशाना साधा। सिब्बल ने कहा, 'तत्कालीन कैग विनोद राय ने कांग्रेस सरकार के खिलाफ साजिश की थी। इस फैसले ने साबित कर दिया है कि राय की निष्ठा किस ओर थी। जब मैंने जीरो लॉस की बात कही थी तो तत्कालीन विपक्ष और ऑनलाइन ट्रोलर्स ने मुझे निशाने पर लिया था। आज कोर्ट ने यूपीए सरकार की बात पर मुहर लगाई है।' बता दें कि विनोद राय इस वक्त बीसीसीआई के प्रशासक समिति (सीओए) के प्रमुख हैं। 

- वरिष्ठ डीएमके नेता दुरई मुरुगन ने कहा, 'जीत की अभी तो शुरुआत हुई है। राजनीतिक मंसूबों को पूरा करने के लिए हमारे खिलाफ यह साजिश की गई थी, लेकिन अब सब कुछ साफ हो चुका है।'