संविधान को कमजोर करने वाले 'विपक्षी एकजुटता' से घबराए हुए हैं: अहमद पटेल



न्यूज24 ब्यूरो, नई दिल्ली (21 जनवरी):   कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और कोषाध्यक्ष अहमद पटेल ने विपक्षी नेताओं की कोलकाता में हालिया रैली की पृष्ठभूमि में सोमवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह पर जमकर निशाना साधा। पटेल ने कहा कि ‘संविधान को कमजोर करने और इसके साथ छेड़छाड़ का प्रयास करने वाले’ अब विपक्षी एकजुटता से घबराए हुए हैं। उन्होंने दावा किया कि जो लोग पहले बीजेपी के 50 वर्षों तक सत्ता में बने रहने का दम भरते थे, वे अब यह कहते घूम रहे हैं कि अगर वे इस बार हार गए तो 200 साल तक सत्ता में वापस नहीं आएंगे। पटेल ने ट्वीट कर कहा, 'विपक्षी दलों का साथ आने का एक ही मकसद है कि भारत के संविधान की रक्षा की जाए।'




उन्होंने कहा, 'जिन लोगों ने संविधान को कमजोर किया है और इसके साथ छेड़छाड़ करने की कोशिश की है, वे विपक्षी एकजुटता से बहुत ज्यादा घबराए हुए हैं। विपक्षी एकजुटता के कारण उनकी भाव-भंगिमा बदल गई है। डर साफ दिख रहा है।' कांग्रेस के कोषाध्यक्ष ने कहा, 'वे पहले कहा करते थे कि बीजेपी 50 वर्षों तक सत्ता में रहेगी। वे अब कह रहे हैं कि अगर इस बार हार गए तो अगले 200 वर्षों तक सत्ता में नहीं आ सकेंगे।' बता दें कि सितंबर में एक इंटरव्यू में केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा था कि बीजेपी 50 साल तक सत्ता में बनी रहेगी।







वहीँ, बीजेपी ने विपक्ष की रैली को अवसरवादी लोगों की जमात बताया है। बीजेपी ने कहा कि देश के भविष्य के बारे में कोई विचार न करते हुए वे लोग सिर्फ मोदी के विरोध में एक मंच पर आने को मजबूत हुए हैं। विपक्ष की रैली पर प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि 2019 का भारत 1990 के दशक का भारत नहीं है, जब प्रधानमंत्रियों का कार्यकाल कुछ दिनों से लेकर कुछ महीने भर का होता था।उन्होंने कहा कि देश को मजबूर सरकार नहीं, बल्कि मजबूत सरकार की जरूरत है।




रविशंकर प्रसाद ने कोलकाता में विपक्ष की महारैली में जुटे नेताओं को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि उन सभी की महात्वाकांक्षा प्रधानमंत्री बनने की है और इसलिए सबसे मुश्किल चीज उनके नेता की घोषणा करने में है। उन्होंने कहा कि विपक्षी दलों के पास देश का विकास करने की कोई योजना नहीं है और उनका एकमात्र एजेंडा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को हराना है।उन्होंने कहा, ‘‘जो लोग एक दूसरे को देखना तक नहीं पसंद नहीं करते थे वे एकजुट हो गए हैं। उनके पास कोई खाका नहीं है।