कर्नाटक का नाटकः सुप्रीम का आदेश और दौड़ते हुए स्पीकर से मिलने पहुंचे विधायक- देखें वीडियो

न्यूज 24 ब्यूरो, बेंगलुरु (11 जुलाई): कर्नाटक में सत्तारूढ़ कांग्रेस और जेडीएस के बागी 11 विधायकों ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद बेंगलुरू में विधानसभा अध्यक्ष से मुलाकात की और अपना इस्तीफा दोबारा सौंपा। इस दौरान विधानसभा अध्यक्ष आर रमेश कुमार के ऑफिस के आसपास सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए।

सुरक्षा अधिकारियों ने बागी विधायकों को एक घेरा बनाकर स्पीकर कार्यालय तक पहुंचाया। इस दौरान एक विधायक को दौड़ते हुए भी देखा गया।इस बीच कांग्रेस ने अपने विधायकों को व्हिप जारी कर कहा है कि सभी विधायक शुक्रवार को विधानसभा में मौजूद रहें। व्हिप में साफ-साफ कहा गया है कि अगर विधायक विधानसभा में अनुपस्थिति रहेंगे तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

कई दिनों से मुंबई में डेरा डाले कर्नाटक के बागी विधायक एक विशेष विमान से बेंगलुरू पहुंचे और उन्होंने विधानसभा अध्यक्ष से मुलाकात की। इससे कुछ घंटे पहले सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें विधानसभा अध्यक्ष से मिलकर इस्तीफे के अपने फैसले से अवगत कराने की अनुमति दी थी।

शीर्ष अदालत ने कर्नाटक विधानसभा अध्यक्ष केआर रमेश कुमार से कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन के 10 बागी विधायकों के इस्तीफे के बारे में फैसला ‘अविलंब’करने को कहा और इन विधायकों को शाम छह बजे उनसे मिलने की अनुमति दी।

कर्नाटक में सत्तारूढ़ कांग्रेस और जेडीएस के कुल 16 विधायकों ने इस्तीफा दिया है। वहीं दो अन्य निर्दलीय विधायकों ने मंत्री पद से इस्तीफा दिया है। अगर बागी विधायकों के इस्तीफे स्वीकार किए जाते हैं तो सत्तारूढ़ गठबंधन की सरकार संकट में आ जाएगी। राज्य की 224 सदस्यीय विधानसभा में बहुमत का आंकड़ा 113 है।

कर्नाटक विधानसभा में कांग्रेस और जेडीएस सरकार को 116 (कांग्रेस-78, जेडीएस 37 और बीएसपीके 1) विधायकों का समर्थन हासिल है। लेकिन विधायकों के बागी रुख के बाद गठबंधन की सरकार मुश्किलों का सामना कर रही है।

Images Courtesy:Google